कोराेना इफेक्ट / सैलून : 5 फीसदी ग्राहक पहुंचे वो भी सिर्फ कटिंग करवाने, सुरक्षा तैयारी के बावजूद लोगों में डर

गोशाला रोड स्थित सैलून में कटिंग करवाते लोग। गोशाला रोड स्थित सैलून में कटिंग करवाते लोग।
X
गोशाला रोड स्थित सैलून में कटिंग करवाते लोग।गोशाला रोड स्थित सैलून में कटिंग करवाते लोग।

  • ग्राहकों का कहना- कटिंग मजबूरी है लेकिन शेविंग घर पर ही ठीक
  • ब्यूटी पार्लर खुले तो सही लेकिन कोई नहीं आया

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 06:55 AM IST

रतलाम. 61 दिन बाद शुक्रवार को सैलून व ब्यूटी पार्लर खुले। सैलून पर पहले दिन 5 फीसदी ग्राहकी रही। दुकानदारों ने फेस कवर, मास्क, ग्लव्ज के साथ पूरी सुरक्षा अपनाई फिर भी लोग कटिंग करवाने ही नहीं पहुंचे, शेविंग करवाने से लोग बचे। दुकानदारों का कहना है कि लोगों में डर बना हुआ है वहीं ग्राहकों का कहना कि कटिंग सैलून पर करवाना मजबूरी है लेकिन शेविंग घर पर ही ठीक है। वहीं ब्यूटी पार्लर पर पहले दिन ग्राहक नहीं पहुंचे।

सुरक्षा के ये इंतजाम किए

  • फेस कवर, मास्क, एप्रिन, हेयर कवर, सैनिटाइजर की व्यवस्था की।
  • ग्राहक के आते ही उस पर सैनिटाइजर छिड़कने के साथ ही, हाथ धुलवाए।
  • हर नए ग्राहक की कटिंग से पहले सभी औजार सैनिटाइज किए।
  • हर ग्राहक के लिए अलग डिस्पोजेबल तौलिए की व्यवस्था की।
  • दुकान को भी दिन में तीन से चार बार सैनिटाइज किया गया।

शेविंग नहीं करवाएंगे तो कटिंग से घर कैसे चलेगा

  • धानमंडी में सैलून चलाने वाले संजय सोलंकी बताते हैं लोग शेविंग करवाने में डर रहे हैं। लोग शेविंग नहीं करवाएंगे तो घर कैसे चलेगा।
  • लोहार रोड पर सैलून चलाने वाले राजा परमार बताते हैं हम सुरक्षा के पूरे साधन अपना रहे हैं। पहले दिन 5 फीसदी ग्राहकी रही। शेविंग करवाने में ग्राहक डर रहे हैं। हम और ग्राहक मिलकर सुरक्षा का ध्यान रखें तो डर दूर कर सकते हैं।

ग्राहकों का कहना

  •  काटजू नगर के प्रफुल्ल शुक्ला बताते हैं शेविंग तो घर पर ही बना रहे हैं। कटिंग जरूर दुकान पर करवाई है।
  • टाटा नगर के अरुण त्रिपाठी ने बताया हमने तो बच्चों सहित सभी के घर में बाल काट लिए। दो-तीन महीने बाद जब कोरोना का प्रभाव कम हो जाएगा तब सैलून पर जाने की सोचेंगे।

महिलाएं मेकअप व बाल काटने में आत्मनिर्भर इसलिए नहीं पहुंची

ब्यूटी पार्लर संचालिका हेमलता माली (सैलाना रोड) ने बताया कि महिलाएं मेकअप व बाल काटने में आत्मनिर्भर हैं इसलिए पहले दिन ब्यूटी पार्लर सूने रहे। अभी कुछ शादियां बाकी है, जिसमें ग्राहकी बढ़ेगी।

1 हजार सैलून, पहले दिन 10% दुकानें ही खुलीं  
सेन नवयुवक मंडल के अध्यक्ष हिरेंद्र परमार बताते हैं कि शहर में 1 हजार से ज्यादा सैलून हैं। पहले दिन 10 फीसदी दुकानें भी नहीं खुली क्योंकि अधिकांश दुकानदार सुरक्षा के साधनों का इंतजाम करने में ही जुटे रहे। कई दुकानदारों के पास रुपया खत्म हो चुका है क्योंकि उन्होंने रोजगार नहीं होने के बावजूद दो महीने दुकानों का किराया चुकाया है। दुकानदारों को किराया माफ करना चाहिए वहीं शासन को जरूरतमंदों को 15 हजार रुपए महीने की मदद करना चाहिए।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना