पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ratlam
  • Seizure Of Bank Accounts Of Narendra Tank And Sukhdev, Who Cheated In The Name Of Getting Jobs In Medical College

पड़ताल शुरू:मेडिकल कॉलेज में नौकरी दिलवाने के नाम पर ठगी करने वाले नरेंद्र टांक और सुखदेव के बैंक खाते सीज

रतलाम14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • ठगी का शिकार हुए लोगों से दलालाें की जानकारी के साथ नेटवर्क खंगाल रही पुलिस

मेडिकल कॉलेज में नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी के मामले में गिरफ्तार नरेंद्र टांक निवासी शहर सराय और सुखदेव कुशवाह निवासी डोंगरे नगर के खाते पुलिस ने सीज करवा दिए हैं। जानकारी निकलवाकर ठगी के रुपयों से खरीदी संपत्ति की भी जब्त की जाएगी। पुलिस ठगी का शिकार हुए लोगों से संपर्क कर दलालों की जानकारी निकाल रही है।

जानकारी मिलने पर धार निवासी दो युवकों ने पुलिस से संपर्क भी किया है। गिरफ्तार दोनों आरोपी 3 जून तक पुलिस रिमांड पर हैं। उधर एसपी गौरव तिवारी ने 23 सदस्यीय एसआईटी गठित की है। मेडिकल कॉलेज में सिक्योरिटी गार्ड, वार्डबॉय, नर्स, लैब टेक्नीशियन, असिस्टेंट, कम्प्यूटर ऑपरेटर तथा अन्य पदों पर नियुक्ति दिलाने के नाम पर आरोपी नरेंद्र टांक और सुखदेव ने रतलाम, मंदसौर, नीमच, झाबुआ, धार, बदनावर आदि स्थानों के बेरोजगार युवकों से 20 हजार से डेढ़ लाख रुपए तक वसूले।

जानकारी के अनुसार सुखदेव ने करीब दो करोड़ से अधिक रुपयों की वसूली की जिसमें से 60 लाख रुपए नरेंद्र टांक को दिए। ठगी का सिलसिला जनवरी-2020 से चल रहा था। न जनवरी-2021 में उसके लैपटाॅप पर चिकित्सा शिक्षा संचालनालय का फर्जी लेटरपैड बनाकर फर्जी विज्ञप्ति टाइप कर ली जिसमें नियुक्त 130 लोगों की सूची थी। यही सूची दिखाकर आदेश जारी होने का झांसा दे रहा था।

आरोपियों ने फर्जी कंपनी के नाम से मेडिकल कॉलेज में कम्प्यूटर ऑपरेटिंग का कांट्रेक्ट मिलने का लैटर भी बनाया और कम्यूटर ऑपरेटर भी नियुक्त किए। नौकरी नहीं मिली तो कुछ लोगों ने तलाश की तब धोखाधड़ी का खुलासा हुआ। शुभमश्री काॅलोनी निवासी राहुल पिता जोर सिंह डामर और उनकी बहन कविता तथा गवली मोहल्ला निवासी प्रवीण पिता भैरूलाल मालवी ने औद्योगिक क्षेत्र थाने में आरोपियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करवाई।

रुपए वापस करने के लिए चेक भी दिए
टीआई नीरज सारवान ने बताया नौकरी नहीं मिलने पर लोगों ने दबाव बनाया तो कुछ लोगों को रुपए वापस करने के लिए आरोपियों ने चेक भी दिए। एक चेक जब्त हुआ है। पूछताछ कर रहे हैं किसके खाते से कितने चेक जारी किए हैं।
सट्‌टा खेला, स्कूटर और मोबाइल खरीदे
टीआई नीरज सारवान ने बताया आरोपी सुखदेव ने बयान दिया है कि लोगों से रुपए लेकर उसने नरेंद्र टांक को दिए हैं। नरेंद्र ने पूछताछ में ठगी के रुपयों से मोबाइल फोन और एक्टिवा खरीदने तथा उधारी चुकाने की जानकारी दी है। नरेंद्र को सट्टा खेलने का भी शौक है। उसने क्रिकेट सट्टे में भी रुपए लगाए हैं।

खबरें और भी हैं...