पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ratlam
  • Strict Lockdown, By Locking The Infected Villages And Creating A Containment Zone In The City, The Speed Of Corona Stopped In The District, Ratlam District Reached 26 Patients Per Day From Maximum 398 Patients Per Day

जानिए रतलाम में कैसे काबू हुआ कोरोना:398 केस आने लगे तो संक्रमित गांवों को किया लॉक, शहर में 200 कंटेनमेंट जोन बना कर रोकी रफ्तार; 21 दिन बाद आए 26 मरीज

रतलाम14 दिन पहले

मध्यप्रदेश के सर्वाधिक संक्रमित जिलों में शामिल रतलाम जिला अब कोरोना की तेज रफ्तार को थामने में सफल होता नजर आ रहा है। रतलाम जिले में 8 मई को सर्वाधिक 398 कोरोना संक्रमित मरीज सामने आए थे। लेकिन कोरोना की तेज रफ्तार अब यहां थम गई है। 21 दिन बाद 24 घंटे में यहां 26 केस आए हैं। बेहतर प्लानिंग और टीमवर्क से कैसे रतलाम ने कैसे कोरोना से जीती जंग... इस पर पढ़िए भास्कर की रिपोर्ट -

रतलाम जिले में मई माह की शुरुआत से कोरोना के संक्रमित मरीजों की संख्या प्रतिदिन 300 के पार पहुंच गई थी। 8 मई को सर्वाधिक 398 संक्रमित मरीज जिले में सामने आए थे। रतलाम मेडिकल कॉलेज में मरीजों के लिए बेड कम पड़ने लगे थे। कांटेक्ट ट्रेसिंग और घर-घर सर्वे और कंटेनमेंट जोन बनाकर कोरोना रोका गया। सीटी स्कैन सेंटर पर जांच कराने आने वालों के के नाम लेकर फालो किया गया।

गांवों में फोकस किया
कोरोना संक्रमण की तेज रफ्तार के बीच रतलाम में कुमार पुरुषोत्तम को कलेक्टर बनाकर भेजा गया था। कुमार ने दैनिक भास्कर से बताया, ग्रामीण क्षेत्रों में तेजी से संक्रमण फैल रहा था। जिन गांवों में संक्रमण अधिक था उन्हें पूरी तरह से लॉक कर वहां एंट्री और एग्जिट बंद किया गया। घर-घर सर्वे करके मरीजों को कोविड केयर सेंटर में लाकर इलाज दिया गया।

शहर में लॉकडाउन की सख्ती, 200 कंटेनमेंट जोन बनाए
सबसे पहले लॉकडाउन का सख्ती से पालन करवाना सुनिश्चित किया गया। इसके बाद जिन क्षेत्रों में नए मरीज सामने आ रहे थे वहां कंटेनमेंट जोन बनाए गए। रतलाम शहर में करीब 200 से अधिक कंटेनमेंट जोन बनाए गए।
सीटी स्कैन सेंटर से मरीजों को तलाशा

शहर के सिटी स्कैन सेंटर से सीटी स्कैन करवाने वाले मरीजों की जानकारी लेकर उनके ट्रेसिंग की गई। कलेक्टर कुमार पुरुषोत्तम ने बताया कि इन सभी पॉइंट्स पर बेहतर टीम वर्क का ही नतीजा है कि अब रतलाम जिले में कोरोना का संक्रमण कम हो रहा है।

मौतों का आंकड़ा 0 पर पहुंचा
बहरहाल बेहतर प्लानिंग और टीमवर्क का ही नतीजा है कि अब रतलाम जिले की पॉजिटिविटी दर भी 21 दिनों में 5% से कम पर आ गई है। वही मेडिकल कॉलेज में भर्ती मरीजों की मौत का आंकड़ा भी बीते 2 दिनों से 0 पर बना हुआ है। अभी जिले में 1 हजार 6 एक्टिव केस हैं।

खबरें और भी हैं...