• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ratlam
  • Taroi Bitter Gourd Is Expensive Because There Is No Local Arrival, Here The Prices Of Garadu, The King Of Cold, Have Not Changed Yet.

सब्जियों के दाम आधे से भी कम:तरोई-करेला महंगा क्योंकि लोकल आवक नहीं, इधर ठंड के राजा गराड़ू के भाव अब तक नहीं बदले

रतलामएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बाजार में सब्जियों की भरपूर आवक है। - Dainik Bhaskar
बाजार में सब्जियों की भरपूर आवक है।
  • कुछ सब्जियों के भाव 50 से 80 प्रतिशत गिरे, 80 रुपए किलो वाला टमाटर 40 पर आया
  • आवक भरपूर, टमाटर, मटर, पालक, मैथी के दाम हुए आधे

ठंड के साथ ही बाजार में सब्जियों की भरपूर आवक हाे रही है। ऐसे में सब्जियों के दाम कम हो गए हैं। कुछ सब्जियों के दाम तो 50-80% तक कम हो गए हैं। इधर, आज से मलमास के कारण शादियों पर ब्रेक लग रहा है। ऐसे में सब्जियों के दाम में और गिरावट की संभावना है। उनके मुताबिक सब्जियों की बड़ी आवक शादियों में खप रही थी, जो अब सीधे बाजार में होगी।

इधर, सब्जियों के दाम कम हो गए है लेकिन तराेई और करेला के दाम में इजाफा देखने को मिल रहा है। सब्जी विक्रेता जुझार सिंह ने बताया ऐसा इसलिए क्योंकि तराेई और करेला की लोकल आवक नहीं आ रही है। इंदौर के मार्केट से सब्जी आ रही है। जिससे दाम बढ़े हुए हैं। इधर, 80 रुपए किलो तक बिकने वाला टमाटर 40-50 रुपए किलो बिक रहा है। गोभी, ककड़ी के दाम आधे हो गए हैं। मिर्ची, शिमला मिर्ची, पालक, मैथी सहित अन्य सब्जियां आधे से कम दाम पर मिल रही है।

गराड़ू की खेती रतलाम के आसपास होती है, शादियों पर ब्रेक से दाम कम होने के आसार

आमतौर पर ठंड के साथ ही गराड़ू के दाम कम होते है, लेकिन इस बार ऐसा देखने को अब तक नहीं मिला है। ठंड की शुरुआत में बाजार में गराड़ू 30-40 रुपए किलो तक मिल रहा था, जो कि अभी भी 30-40 रुपए किलो पर ही बना हुआ है। हालांकि, गराड़ू के दाम क्वालिटी पर निर्भर कर रहे हैं। गराड़ू की ज्यादातर खेती रतलाम के आसपास होती है। ऐसे में अब शादियों पर ब्रेक होने के कारण इसके दाम कम होने के आसार हैं।

खबरें और भी हैं...