पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आत्महत्या:वर्क फ्राॅम होम पर रतलाम आए टीसीएस के सॉफ्टवेयर इंजीनियर ने की आत्महत्या

रतलामएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सुबह मां पहुंची तो जमीन पर पड़ा मिला शव
  • 5 माह पहले लगी नौकरी, लॉकडाउन में आए थे घर

टीआईटी रोड निवासी सॉफ्टवेयर इंजीनियर हितेश जेठानी (23) ने टेलीफोन के तार से फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। गुरुवार सुबह मां पहुंची तो वह फर्श पर गिरा मिला। दाहिनी आंख पर चोट का निशान था। अस्पताल ले जाने पर डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

स्टेशन रोड थाने से एएसआई अरविंदसिंह भंवरेला दल के साथ पहुंचे। परिजन ने बताया कि 4-5 माह पहले ही हितेश की टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेस लिमिटेड (टीसीएस) अहमदाबाद में नौकरी लगी थी। लॉकडाउन के कारण वह वर्क फ्रॉम होम कर रहा था। पिता सुरेश जेठानी लोकेंद्र टॉकीज क्षेत्र स्थित सेंट्रल बैंक में सहायक प्रबंधक है। बड़ी बहन हीना भी आत्मनिर्भर है।

बुधवार देर रात तक कार्य कर रहा था। सुबह 6 बजे मां तुलसी जेठानी जब हितेश के कमरे की ओर गई तो दरवाजा खुला था और वह जमीन पर पड़ा था। उसकी दाहिनी आंख पर चोट का निशान होने के साथ खून निकला था। मां ने आवाज लगाकर परिवार के सदस्यों को बुलाया और उसे लेकर जिला अस्पताल आए। जिला अस्पताल में पीएम के बाद शव परिजन को सौंप दिया।

टेलीफोन के तार से फांसी लगाई, रिपोर्ट का इंतजार

प्रारंभिक जांच में यही बात सामने आई है कि हितेश ने फांसी लगाकर आत्महत्या की है। आत्महत्या के कारणों का पता नहीं चल पाया है। टेलीफोन के तार से फांसी का फंदा लगाने के बाद उसकी मौत हो गई। संभवत: कुछ समय बाद तार टूट गया और नीचे फर्श पर गिर गया, जिससे चोट आई। एएसआई अरविंदसिंह भंवरेला ने बताया कि पीएम करवाया है, मर्ग कायम कर जांच की जा रही है।

खबरें और भी हैं...