पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बाल चिकित्सालय का नया भवन शुरू:65 ऑक्सीजन बेड हैं, प्रदेश में ये सबसे ज्यादा : भदौरिया

रतलाम11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बाल चिकित्सालय के नए भवन के शुभारंभ अवसर पर व्यवस्थाओं के बारे में जानते प्रभारी मंत्री भदौरिया। - Dainik Bhaskar
बाल चिकित्सालय के नए भवन के शुभारंभ अवसर पर व्यवस्थाओं के बारे में जानते प्रभारी मंत्री भदौरिया।
  • अतिथियों ने कहा- आधुनिक स्वरूप लिए चिकित्सालय बड़ी सौगात

बच्चों के इलाज के लिए बड़ी सुविधा शहर को मिली है। प्रभारी मंत्री ओपीएस भदौरिया ने रविवार को बाल चिकित्सालय के भवन का शुभारंभ किया। इस भवन का रिनोवेशन किया गया है। प्रभारी मंत्री ने कहा कि बाल चिकित्सालय में बच्चों के लिए 65 ऑक्सीजन बेड है। संभवत: ये प्रदेश में सबसे ज्यादा है।

कलेक्टर कुमार पुरुषोत्तम की पहल पर बाल चिकित्सालय का भवन नए सिरे से तैयार किया गया है। पहले यहां 10 बेड थे, जो अब 65 हो गए हैं। इसी के साथ बाल चिकित्सालय में अन्य सुविधाओं को भी बढ़ाया गया है।

प्रभारी मंत्री भदौरिया ने कहा पुराने समय में जनभागीदारी, जनसहयोग से बाल चिकित्सालय के निर्माण का अद्भुत काम रतलाम में हुआ था और अब जिला प्रशासन ने यह काम करते हुए इसका कायाकल्प कर दिया है। इसके लिए कलेक्टर कुमार पुरुषोत्तम बधाई के पात्र हैं। अब आधुनिक स्वरूप लिए बाल चिकित्सालय शहर के लिए बड़ी सौगात है, उपलब्धि है।

प्रभारी मंत्री ने कहा मध्यप्रदेश में मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान के नेतृत्व में पिछले 3 माह में स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदेशवासियों को मुहैया कराई गई हैं। हर एक जिले में बच्चों के उपचार के लिए विशेष बाल चिकित्सा इकाई स्थापित की गई है। प्रत्येक जिले में ऑक्सीजन प्लांट उपलब्ध कराए गए हैं।

पूर्व मंत्री कोठारी के घर गए प्रभारी मंत्री, जिलाध्यक्ष की तबीयत पूछी :

प्रभारी मंत्री पूर्व मंत्री हिम्मत कोठारी के निवास पर भी गए। वहीं भाजपा जिलाध्यक्ष की तबीयत खराब होने पर उन्होंने कुशलक्षेम पूछी। विधायक ग्रामीण दिलीप मकवाना, अशोक चौटाला, भेरूलाल पाटीदार मौजूद थे।

बाल चिकित्सालय के लिए ऑक्सीजन प्लांट की स्वीकृति भी मिली
विधायक चेतन्य काश्यप ने कहा बाल चिकित्सालय जनभागीदारी की उपलब्धि है जो भविष्य के लिए भी अत्यंत उपयोगी सिद्ध रहेगा। मुझे भी इसके निर्माण में सहभागिता का सौभाग्य प्राप्त हुआ था। उन्होंने कहा कि कोरोना के साथ ही नगर में डेंगू से निपटने के लिए भी ठोस कदम उठाए गए हैं।

बाल चिकित्सालय के लिए ऑक्सीजन प्लांट की स्वीकृति भी मिल गई है, शीघ्र ही इसका निर्माण होगा। पूर्व मंत्री हिम्मत कोठारी ने कहा कि रतलाम का बाल चिकित्सालय जनभावना का प्रतीक है। जनसहयोग से बाल चिकित्सालय का निर्माण किया गया जो सौगात है। डिप्टी कलेक्टर शिराली जैन ने बाल चिकित्सालय के कायाकल्प के बारे में बताया।

खबरें और भी हैं...