रेलवे के कार्मिक विभाग की आशुलिपिक परीक्षा में अनियमितता:जिन्हें हिंदी टाइपिंग नहीं आती उनका कर लिया सिलेक्शन

रतलामएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

रेलवे का करामाती कार्मिक विभाग एक बार फिर सुर्खियों में हैं। ताजा मामला आशुलिपिक परीक्षा का है। जुगाड़ की बदौलत अयोग्य कर्मचारियों का सिलेक्शन कर लिया है। इसका पता चलने के बाद से परीक्षा देने वाले अन्य कर्मचारियों में नाराजगी है। कुछ ने मंडल रेल प्रबंधक को लिखित शिकायत की है।

बताया कि 25 सितंबर को हुई आशुलिपिक गति परीक्षा में जिन परीक्षार्थियों को पास किया है। उनको न हिंदी टाइपिंग आती है और न 80 डब्ल्यूपीएम गति में आशुलिपी लिखना जानते हैं। शिकायतकर्ता कर्मचारी हिमांशु पाटीदार, नीतू कुंवर, शैलेंद्र पोरवाल, नैनू सिंह, बीएल कामड़ सहित अन्य ने परीक्षा की निष्पक्ष जांच की मांग की है। मंडल रेल प्रबंधक कार्यालय ने फाइल को रोक दिया है। कार्मिक विभाग ने आशुलिपिक गति परीक्षा में जिन कर्मचारियों को उपयुक्त पाया है।

उनके नाम कृष्ण कुमार और गुलशन कुमार है। बता दें कि कार्मिक विभाग ने 27 अगस्त को आशुलिपिक (स्टेनोग्राफर) लेवल-चार मंडल स्तर 25 प्रतिशत अन्य विभाग की लिखित परीक्षा ली थी। इसमें 22 कर्मचारी शामिल हुए थे। 16 कर्मचारियों ने अर्हक अंक प्राप्त किए थे। सिलेक्शन करने के लिए आशुलिपिक गति परीक्षा ली थी। पीआरओ खेमराज मीणा ने कहा शिकायत हुई है तो गुरुवार को जानकारी लेकर ही डिटेल बता सकूंगा।

खबरें और भी हैं...