पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

ट्रांसपोर्ट नगर:नगरीय विकास-आवास की मुहर, नक्शा रेडी, अक्टूबर से अर्थवर्क

रतलाम13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • सालाखेड़ी में 16 हेक्टेयर में विकसित करेंगे ट्रांसपोटर्स के लिए इंफ्रास्ट्रक्चर

नौ साल के लंबे इंतजार के बाद आखिरकार बहुप्रतीक्षित ट्रांसपोर्ट नगर प्रोजेक्ट पर नगरीय विकास एवं आवास मंत्रालय की मुहर लग गई है। सालाखेड़ी की 16 हेक्टेयर (40 एकड़) जमीन आकार लेने वाले ट्रांसपोर्ट नगर का नक्शा और डीपीआर भी बन गई है।

रतलाम विकास प्राधिकरण (आरडीए) ने प्रपोजल भोपाल भेजा था। ग्राम एवं नगर निवेश विभाग आयुक्त के प्रजेंटेशन देखने के बाद नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेंद्र सिंह ने मंजूरी दे दी है। इस दौरान विकास प्राधिकरण ने बाकी की कागजी औपचारिकताएं भी पूरी कर ली हैं। आदेश मिलते ही आरडीए डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट के अनुसार टेंडर जारी कर देगा। अक्टूबर में अर्थवर्क शुरू हो जाएगा। पहले चरण में 16 हेक्टेयर में ट्रांसपोर्ट्स के लिए जरूरी इंफ्रास्ट्रक्चर विकसित किया जाएगा। यह प्रोजेक्ट 2012 में शुरू होने के बाद से पेंडिंग था। सब कुछ ठीक रहा तो फ्रीगंज, स्टेशन रोड, महू रोड सहित शहर के आठ इलाकों के रहवासियों को 2023 अंत तक भारी वाहनों के आवागमन से छुटकारा मिल जाएगा।

दूसरे चरण में 19 हेक्टेयर में होगा विस्तार

मास्टर प्लान में सिटी ट्रांसपोर्ट नगर के लिए 35 हेक्टेयर जमीन आरक्षित है। यही वजह है कि सरकार के कहने पर दूसरे चरण की कवायद भी शुरू हो गई है। इसमें ट्रांसपोर्ट नगर का 19 हेक्टेयर में विस्तार किया जाएगा। 11 जुलाई को भोपाल के कंसल्टेंट शैलेंद्र शर्मा लोकेशन देख चुके हैं। ट्रांसपोर्ट नगर के लिए जमीन तो प्रशासन ने फरवरी 2021 में ही आवंटित कर दी थी, लेकिन आरडीए की लापरवाही से प्रोजेक्ट इससे आगे नहीं बढ़ पाया था। जून में इसका पता चलने के बाद कलेक्टर कुमार पुरुषोत्तम ने फाइल तलब की थी।

यह है मेट्रो सिटी की तर्ज पर ट्रांसपोर्ट नगर की योजना

  • 150 प्लाट - ट्रांसपोर्ट्स व इससे जुड़े अन्य कारोबारियों के लिए
  • दुकानें - बैंक शाखा, एटीएम सहित अन्य ऑफिस के लिए दुकान, गोदाम भी बनाए जाएंगे।
  • इंफ्रास्ट्रक्चर - सीसी की सड़कें, ड्रेनेज सिस्टम, पानी की टंकी, सेंट्रल स्ट्रीट लाइट आदि।
  • सुविधाएं - प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, पुलिस चौकी, पेट्रोल पंप, सुलभ शौचालय, होटल, कैंटीन सहित अन्य।
  • सुरक्षा - गार्ड रूम, सीसीटीवी कैमरे और इंटरनेट एरिया आदि।

ट्रक-ट्रालों से लोगों को परेशानी होती थी। ट्रांसपोर्ट नगर से समस्या नहीं रहेगी। ट्रांसपोर्ट नगर प्राथमिकता में था इसके लिए भोपाल के अधिकारियों से बात चल रही थी। अब काम कराएंगे।
-चेतन्य काश्यप, विधायक

दो-तीन माह में निर्माण प्रारंभ हो जाएगा। इसमें ट्रांसपोटर्स को नियमानुसार प्लाॅट आवंटित होंगे जबकि शोरूम, होटल और अन्य व्यावसायिक उपयोग के बेचे जाएंगे।
-कुमार पुरुषोत्तम, कलेक्टर

ट्रांसपोर्ट नगर की जरूरत है। इसमें इंफ्रास्ट्रक्चर, सुविधा और सुरक्षा इंतजाम सहित डवलपमेंट के लिए ट्रांसपोर्टर के सुझाव भी लेना चाहिए। कई साल से प्रयास कर रहे थे।
-प्रदीप छिपानी, प्रदेश महामंत्री-मप्र कांग्रेस परिवहन प्रकोष्ठ

खबरें और भी हैं...