पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ratlam
  • Waiting For Khamor ... Last Year, Not A Single Couple Was Shown, So Far This Year, The Rain Is Less, There Is Hope Of Coming In August

किसान चौकस:खरमोर का इंतजार... पिछले साल एक भी जोड़ा नहीं दिखा था, इस साल अब तक बारिश कम, अगस्त में आने की आस

रतलाम2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • तेज बारिश के बाद मानसून ब्रेक में आते हैं खरमोर, वन विभाग के 10 कर्मचारी निगरानी में लगे

हमारे जिले की शान खरमोर के आने का समय आ चुका है। अभयारण्य में वन विभाग के साथ ही पक्षी प्रेमी खरमोर के आने का इंतजार कर रहे हैं। आम तौर पर खरमोर 3 से 4 दिन तेज बारिश के बाद मानसून ब्रेक में आते हैं, लेकिन तेज बारिश नहीं हो सकी है, जो चिंता का विषय है। हालांकि, बारिश की संभावना अभी बनी हुई है। इस मान से अगस्त के पहले सप्ताह के बाद खरमोर आने की संभावना ज्यादा है।

2019 में खरमोर ने हमें निराश किया था। जुलाई से अक्टूबर अंत तक खरमोर का इंतजार था... लेकिन, एक भी जोड़ा नहीं दिखा था। हालांकि, सिर्फ एक साल खरमोर के ना आने से उम्मीद नहीं टूटी है। शहर के पक्षी प्रेमी इस साल खरमोर के आने का इंतजार कर रहे हैं। इधर, वन विभाग ने खरमोर के लिए तैयारियां शुरू कर दी हैं। डीएफओ के मुताबिक खरमोर के पसंदीदा अनाज के बीज बो चुके हैं, वहीं, अभयारण्य में खरमोर को देखने के लिए 10 से ज्यादा गार्डों को भी तैनात किया जा चुका है। इधर, किसानों को सूचना दे दी है कि खरमोर की सूचना देने पर उन्हें इनाम दिया जाएगा।

निराशा... कम हो रहे खरमाेर, 2008 में 38 दिखे थे

ज्यादा संख्या में खरमोर को लेकर निराशा का माहौल भी है। ऐसा इसलिए क्योंकि इसी अभयारण्य में 2008 में 38 खरमोर, 2009 में 36 खरमोर तो वहीं 2012 में 33 खरमोर देखे गए थे। या यूं कहें कि पूरा अभयारण्य खरमोर की लंबी कूद से आबाद था। इसके बाद संख्या कम होने लगी 2016 में 12 खरमोर, 2017 में 04 तो 2018 में सिर्फ 2 ही खरमोर दिखे थे। वहीं, 2019 में तो पहली बार ऐसा हुआ जब अभयारण्य में एक भी खरमोर नहीं आया। 2019 में आगमन कम हुआ था, धार में भी नहीं दिखे थे : इधर, 2019 में खरमोर का क्षेत्र में आगमन कम हुआ था। धार के सरदारपुर में एक खरमोर के दिखने की बात आई थी, लेकिन इसकी पुष्टि किसी ने नहीं की। वहीं, झाबुआ में अगस्त अंत में मोरझरिया के जंगलों में दो से तीन खरमोर देखे गए।

अभी खरमोर नहीं दिखे हैं। हम भी इंतजार में हैं। हमारा स्टाफ निगरानी कर रहा है। हालांकि, ज्यादा बारिश होने के बाद उम्मीद ज्यादा रहती है। अभी थोड़ी और बारिश का इंतजार है। 10 से 15 लोग अभयारण्य नजर रख रहे हैं। वासु कन्नोजिया, डीएफओ, रतलामज्यादा संख्या में खरमोर को लेकर निराशा का माहौल भी है। ऐसा इसलिए क्योंकि इसी अभयारण्य में 2008 में 38 खरमोर, 2009 में 36 खरमोर तो वहीं 2012 में 33 खरमोर देखे गए थे। या यूं कहें कि पूरा अभयारण्य खरमोर की लंबी कूद से आबाद था। इसके बाद संख्या कम होने लगी 2016 में 12 खरमोर, 2017 में 04 तो 2018 में सिर्फ 2 ही खरमोर दिखे थे। वहीं, 2019 में तो पहली बार ऐसा हुआ जब अभयारण्य में एक भी खरमोर नहीं आया।

2019 में आगमन कम हुआ था, धार में भी नहीं दिखे थे : इधर, 2019 में खरमोर का क्षेत्र में आगमन कम हुआ था। धार के सरदारपुर में एक खरमोर के दिखने की बात आई थी, लेकिन इसकी पुष्टि किसी ने नहीं की। वहीं, झाबुआ में अगस्त अंत में मोरझरिया के जंगलों में दो से तीन खरमोर देखे गए।

अभी खरमोर नहीं दिखे हैं। हम भी इंतजार में हैं। हमारा स्टाफ निगरानी कर रहा है। हालांकि, ज्यादा बारिश होने के बाद उम्मीद ज्यादा रहती है। अभी थोड़ी और बारिश का इंतजार है। 10 से 15 लोग अभयारण्य नजर रख रहे हैं। वासु कन्नोजिया, डीएफओ, रतलाम

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- समय पूर्णतः आपके पक्ष में है। वर्तमान में की गई मेहनत का पूरा फल मिलेगा। साथ ही आप अपने अंदर अद्भुत आत्मविश्वास और आत्म बल महसूस करेंगे। शांति की चाह में किसी धार्मिक स्थल में भी समय व्यतीत ह...

और पढ़ें