पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

श्मशान की व्यवस्था हुई प्रभावित:मुक्तिधाम में 1 साल से कर रहा था काम, वहीं फंदा बनाकर खुदकुशी

रतलाम2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जवाहर नगर मुक्तिधाम में दाह संस्कार करता था

जवाहर नगर मुक्तिधाम में दाह संस्कार का काम करने वाले युवक ने लकड़ी व कंडों के भंडार गृह के बाहर लोहे के एंगल से फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। 9 दिन पहले मां का निधन हो गया था। उसके निधन के कारण मुक्तिधाम पर व्यवस्था भी प्रभावित हुई। दाह के लिए आने वाले श‌वों को दोपहर बाद बुलवाया गया।

जानकारी के अनुसार मुक्तिधाम पर कार्यरत राहुल पिता जितेंद्र केवट (19) ने सोमवार देर रात फांसी का फंदा लगा लिया। मंगलवार सुबह राहुल की आंटी पायल उठी और जब बाहर आई तो देखा राहुल एंगल पर लटका हुआ था। शोर मचाने पर राहुल के अंकल प्रेम मंडल व अन्य लोग आए। जानकारी मिलने पर औद्योगिक क्षेत्र पुलिस मौके पर पहुंची और पंचनामा बनाकर शव को जिला अस्पताल भिजवाया। डॉक्टरों ने पीएम कर शव परिजन को सौंपा। दोपहर बाद परिजन शव लेकर मुक्तिधाम पहुंचे। औद्योगिक क्षेत्र पुलिस ने जांच शुरू कर दी।

अंतिम संस्कार के लिए शाम को बुलवाया : मुक्तिधाम ट्रस्ट अध्यक्ष शैलेंद्र शर्मा ने बताया कि अंतिम संस्कार के लिए सुबह दो सीढ़ियां गई थीं। जिन्हें हमने शाम 4 बजे बाद ही शव को लाने के लिए कह दिया गया था। वहीं सुबह मेडिकल कॉलेज से भी एक शव आया था जिसे हमने मना कर दिया था और उसके बाद उसे भक्तन की बावड़ी मुक्तिधाम पर ले जाया गया। व्यवस्था प्रभावित तो हुई लेकिन ज्यादा शव नहीं होने के कारण परेशानी नहीं आई। सभी को पहले से ही बता दिया था। साथ ही दोपहर 3 बजे बाद भक्तन की बावड़ी स्थित मुक्तिधाम से एक कर्मचारी बुलवा लिया था। मृतक के पिता व परिवार के अन्य सदस्य वडोदरा से आने के बाद शाम 4 बजे बाद राहुल का अंतिम संस्कार मुक्तिधाम में कर दिया गया।

चाचा के कहने पर वड़ोदरा से रतलाम आया था, चार दिन पहले दिलाया था मोबाइल फोन

जवाहर नगर मुक्तिधाम में प्रेम मंडला 10-11 सालों से काम कर रहा है। उसका बड़ा भाई जितेंद्र केवट वडोदरा (गुजरात) में निवासरत होकर छूटकर मजदूरी करता है। प्रेम मंडला ने बताया लगभग एक साल पहले ही भतीजे राहुल को यहां बुलवाया था तभी से वह यहीं काम कर रहा है। 9 दिन पहले उसकी मां अरुणा केवट का कोरोना पॉजिटिव होने के कारण निधन हो गया था। तब भतीजा राहुल, पत्नी पायल व परिवार के सभी सदस्य वडोदरा गए थे।

काम निपटाने के बाद लौट आए थे। 1 अप्रैल का कार्यक्रम था हम सभी बुध‌वार वडोदरा जाने वाले थे उसके पहले ही राहुल ने फांसी लगा ली। उन्होंने बताया राहुल इतना दुखी भी नहीं था कि वह आत्महत्या कर ले। तीन-चार दिन पहले उसे स्मार्ट मोबाइल दिलवाया था। रात 12 बजे तक तो हम सभी जाग रहे थे। पता नहीं कब उसने यह कदम उठा लिया। परिवार में वह बड़ा था उसकी तीन छोटी बहन व एक छोटा भाई है। वे सभी वडोदरा में ही रहते हैं।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आपका अधिकतर समय परिवार तथा फाइनेंस से जुड़े महत्वपूर्ण कार्यों में व्यतीत होगा। और सकारात्मक परिणाम भी सामने आएंगे। किसी भी परेशानी में नजदीकी संबंधी का सहयोग आपके लिए वरदान साबित होगा।। न...

    और पढ़ें