निर्माण प्रतिबंधित / सरकारी जमीन पर बना रहे थे दुकानेें, रुकवाया निर्माण

X

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 04:00 AM IST

सीतामऊ. मंदसौर-सुवासरा हाईवे रोड से लगी जमीन खेड़ा पंचायत की भूमि शासकीय है। जहां भू-माफिया द्वारा दुकानों का निर्माण किया जा रहा है। जमीन का आधा हिस्सा शासकीय सर्वे में दर्ज हैं। आधा हिस्सा पहले ही भूमाफिया द्वारा विक्रय किया जा चुका है। यह आधा हिस्सा बंदोबस्त के पूर्व सर्वे क्रमांक 1309 सन 1999 में शासकीय रिकॉर्ड में था, जो शासकीय रास्ता है। ग्रामीणों की शिकायत पर तहसीलदार मुकेश सोनी ने निर्माण कार्य रुकवाया है।
2000 में बंदोबस्त के दौरान बिना किसी सक्षम अधिकारी के आदेश के जमीन के साइज की रिकॉर्ड में हेराफेरी करके नागूलाल पिता रामा चमार के नाम से दर्ज कर दी। बंदोबस्त के बाद इसका सर्वे क्रमांक 1494 है। नागूलाल चमार ने उक्त शासकीय जमीन को इसाक लोड़ा नाम के व्यक्ति को बेच दी। इसाक लोड़ा ने उक्त जमीन भूमाफिया मुरलीधर पिता सिरुमल सिंधी को बेच दी। उक्त व्यक्ति ने शासकीय जमीन पर 6 दुकानों का निर्माण शुरू कर दिया। बंदोबस्त के बाद सर्वे क्रमांक 1309 अब 1494 दर्ज हैं, इसके पास सर्वे क्रमांक 1493 आज भी शासकीय रिकॉर्ड में है। माऊखेडा फंटे के नाम से विख्यात इस चौराहे पर खेड़ा पंचायत की शासकीय जमीन जिसका पुराना सर्वे नंबर 1309 था, जो वर्तमान में 1494 है। यह शासकीय नंबर सर्वे क्रमांक 1493 आज भी शासकीय रिकॉर्ड में दर्ज है। तहसीलदार मुकेश सोनी का कहना है कि खेड़ा गांव के लोगों ने शिकायत की है। जिस पर निर्माण रुकवा दिया है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना