विंध्य का सबसे बड़ा कोविड अस्पताल:MP के रीवा में 400 बिस्तर का कोविड सेंटर तैयार, ऑक्सीजन युक्त बनाए गए 50 बेड

रीवाएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जेपी नगर में बनाया गया कोविड सेंटर। - Dainik Bhaskar
जेपी नगर में बनाया गया कोविड सेंटर।
  • जिला प्रशासन के सहयोग से जेपी सीमेंट प्लांट और समाजसेवी संगठन व नागरिक मंच ने किया सहयोग

जानलेवा हो चुके कोरोना वायरस के नियंत्रण के लिए केन्द्र व राज्य सरकार की पहल पर जिला प्रशासन व समाजिक संगठन आत्मनिर्भर हो रहे है। ऐसे में हर कोई अपनी इच्छा शक्ति व समर्थ के अनुसार हर संभव मदद की कोशिश कर रहा है। फिर चाहे आद्योगिक घराने हो अथवा छोटी कंपनियां, हर कोई आपदा में जिला प्रशासन के साथ खड़ा है। एक ऐसा ही प्रयास जेपी सीमेंट कंपनी और समाजसेवी संगठन व नागरिक मंच के सहयोग से किया गया।

यहां पर विंध्य क्षेत्र का सबसे बड़ा कोविड सेंटर तैयार किया गया है। जिसमे 400 बिस्तर के साथ ऑक्सीजन युक्त 50 बेड बनाए गए है। साथ ही उपचार कराने वाले रोगियों को भोजन, चाय, नाश्ता, पानी व दवाओं की व्यवस्था जेपी संस्थान द्वारा की जायेगी। इस नेक कार्य का सोमवार की दोपहर पूर्व मंत्री एवं विधायक रीवा राजेन्द्र शुक्ल, विधायक सेमरिया केपी त्रिपाठी, कलेक्टर डॉ. इलैयाराजा टी ने सरदार पटेल विद्यालय जेपी नगर में बनाये गए कोविड सेंटर की व्यवस्थाओं का जायजा लिया है।

जायजा लेते पूर्व मंत्री एवं विधायक रीवा राजेन्द्र शुक्ल।
जायजा लेते पूर्व मंत्री एवं विधायक रीवा राजेन्द्र शुक्ल।

रोगियों के लिए वरदान साबित होगा कोविड सेंटर
इस अवसर पर पूर्व मंत्री ने कहा कि जेपी नगर में बनाया गया कोविड सेंटर होम आइसोलेशन रोगियों के लिये वरदान साबित होगा। यह संकटकाल में सेवा, सहयोग की अनुपम मिशाल है। जेपी प्रबंधन ने सदैव जन कल्याण में बढ़ चढ़कर सहयोग किया है। कोविड सेंटर बनाने में सभी आवश्यक सुविधायें जेपी संस्थान द्वारा उपलब्ध करायी गई हैं। इसके लिये संस्थान के प्रमुख जेपी गौड़ तथा शनि गौड़ बधाई के पात्र हैं। इस कोविड सेंटर को बनाने में सेमरिया विधायक ने भी सराहनीय पहल की। रीवा में सेवा कार्य में सदैव आगे रहने वाले संस्थान नागरिक मंच का भी कोविड सेंटर बनाने में महत्वपूर्ण योगदान मिला। कमिश्नर अनिल सुचारी, कलेक्टर डॉ. इलैयाराजा टी ने कोविड सेंटर स्थापित करने के लिये लगातार प्रयास किये। इन प्रयासों का परिणाम है कि बहुत कम समय में कोविड सेंटर कोरोना पीडि़तों के उपचार के लिये उपलब्ध हो गया है।

और बढ़ा हो सकता है कोविड सेंटर
रीवा विधायक ने बताया कि कोविड सेंटर में 400 रोगियों के उपचार की व्यवस्था है। आवश्यकता होने पर इसमें वृद्धि भी की जायेगी। इस अवसर पर विधायक सेमरिया ने कहा कि शहर के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्रों में भी कोरोना का प्रकोप तेजी से बढ़ा है। जिले में हजारों की संख्या में होम आइसोलेशन में कोरोना पीडि़त उपचार करा रहे हैं। संक्रमण के कम लक्षण वाले जिन रोगियों के पास होम आइसोलेशन की सुविधा नहीं है। उनके लिये कोविड सेंटर बहुत बड़ी सुविधा बनेगा। इसमें रहने, भोजन तथा उपचार की नि:शुल्क व्यवस्था की गई है। कोविड सेंटर शुरू हो जाने से गरीब कोरोना पीडि़तों को उपचार के लिये भटकना नहीं पड़ेगा।

100 सिलेण्डर प्रतिदिन ऑक्सीजन गैस भरने वाला प्लांट स्थापित
इस मौके पर उपस्थित जेपी संस्थान के वरिष्ठ प्रबंधक डीएस राणा ने बताया कि कोविड सेंटर के रोगियों को भोजन, नाश्ते, गरम पानी तथा दवाओं की व्यवस्था संस्थान की ओर से की जा रही है। संस्थान के परिसर में 100 सिलेण्डर प्रतिदिन ऑक्सीजन गैस भरने वाला प्लांट स्थापित किया जा रहा है। इसके लिये एक करोड़ से अधिक की राशि स्वीकृत की गई है। रीवा जिले के कोरोना संक्रमितों के उपचार तथा अन्य व्यवस्थाओं के लिये संस्थान प्रशासन के कंधे से कंधा मिलाकर पूरा सहयोग करेगा। इस अवसर पर महाप्रबंधक उद्योग यूबी तिवारी, नागरिक मंच के प्रतिनिधि कैलाश कोटवानी, कमलेश सचदेवा, संजय गुप्ता, अनिल केसरी, मनोहर मोटवानी, सरदार प्रहलाद सिंह, शंकर सहानी तथा जेपी प्रबंधन के प्रतिनिधि उपस्थित रहे।

खबरें और भी हैं...