• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Rewa
  • Bandhavgarh Resort Encounter Case: Rewa CID Put An End To Satna Police And Babuli Kol Encounter Considering It Right

बांधवगढ़ रिसोर्ट मुठभेड़ मामला:रीवा सीआईडी ने सतना पुलिस व बबुली कोल मुठभेड़ को सही मानते हुए लगाया खात्मा, चित्रकूट के राजापुर ब्लॉक मेंबरों को धमकाने आए थे डकैत

रीवा10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जीवित अवस्था में बबुली कोल व लवलेश कोल। - Dainik Bhaskar
जीवित अवस्था में बबुली कोल व लवलेश कोल।
  • 24 जनवरी 2016 को बांधवगढ़ के व्हिस्परिंग ग्रास रिसॉर्ट में दो पुलिसकर्मी सहित 3 लोग यूपी के ​हुए थे घायल

24 जनवरी 2016 को बांधवगढ़ के व्हिस्परिंग ग्रास रिसॉर्ट में हुई सतना पुलिस व बबुली कोल के बीच हुई मुठभेड़ को सीआईडी रीवा ने सही मानते हुए खात्मा लगा दिया है। बताया गया कि घटना वाले दिन यूपी चित्रकूट के राजापुर ब्लॉक अध्यक्ष के चुनाव से पहले कुछ ब्लॉक मेंबरों को लेकर अध्यक्ष पद के उम्मीदवार बांधवगढ़ के होटल में ठहरे थे। जहां साढ़े पांच लाख का इनामी डकैत स्वर्गीय बबुली कोल व उसका साथी लवलेश कोल धमकाने आया था।

इसी बीच सतना पुलिस को बबुली के उमहिया जिले के बांधवगढ़ में ठहरने की भनक लगी। तब आधा सैकड़ा पुलिस बल के साथ तत्कालीन एडी प्रभारी निरीक्षक अनिमेष द्विवेदी रिसॉर्ट को घेराबंदी कर ली। इधर सतना पुलिस के आने भी जानकारी मिलते ही बबुली कोल फायरिंग करते हुए जंगलों के रास्ते फरार हो गया था। उस मुठभेड़ में दो पुलिसकर्मी सहित 3 लोग यूपी के घायल ​हुए थे। इसके बाद मजिस्ट्रियल जांच के बाद सीआईडी को केस सौंप दिया गया था। जिसने बीते दिन मानपुर न्यायालय में जांच रिपोर्ट सौंपते हुए खात्मा लगा दिया है।

घटनास्थल बांधवगढ़ व्हिस्परिंग ग्रास रिसॉर्ट।
घटनास्थल बांधवगढ़ व्हिस्परिंग ग्रास रिसॉर्ट।

दोनों डकैतों के एनकाउंटर के बाद सीआईडी को मिली जांच
बता दें कि बबुली कोल व लवलेश कोल के 16 सितंबर 2019 को सतना पुलिस के ​एनकाउंटर में मारे जाने के बाद मामला सीआईडी रीवा को सौंप दिया गया था। सीआईडी ने लगभग दो साल तक इस प्रकरण की विवेचना की। विवेचना के दौरान सीआईडी उस रिसोर्ट पर भी गई। जहां पुलिस और बबुली कोल के बीच मुठभेड़ हुई थी। सीआईडी ने रिसोर्ट के कर्मचारियों सहित आसपास के शामिल लोगों के बयान भी दर्ज किए थे। विवेचना पूरी होने के बाद सीआईडी ने मुठभेड़ को सही मानते हुए प्रकरण में खात्मा लगाकर मानपुर न्यायालय को सौंप दिया है।

घटना वाले दिन मुठभेड़ में घायल अस्पताल में भर्ती।
घटना वाले दिन मुठभेड़ में घायल अस्पताल में भर्ती।

सतना एसपी सहित आधा सैकड़ा लोग मुठभेड़ में थे शामिल
सीआईडी की मानें तो बबुली कोल व लवलेश कोल को पीछा करते हुए तत्कालीन सतना पुलिस अधीक्षक मिथलेश शुक्ला के नेतृत्व में आधा सैकड़ा पुलिस बल बांधवगढ़ के रिसोर्ट में दबिश दी थी। उस दल में तत्कालीन एएसपी रामेश्वर यादव, सीएसपी बीडी पाण्डेय, एडी एवं रामपुर बाघेलान थाना प्रभारी अनिमेष द्विवेदी, मैहर थाना प्रभारी मनीष त्रिपाठी को शामिल किया गया था।

ये था पूरा मामला
​बताया गया कि जिस प्रकरण में सीआईडी ने खात्मा लगाया है। वह उत्तरप्रदेश के ​चित्रकूट जिले के राजापुर ब्लॉक से जुड़ा है। घटना वाले दिन राजापुर ब्लॉक में सदस्यों का चुनाव हो चुका था। अध्यक्ष के लिए वोट करना था। वोटिंग के कुछ दिन पहले एक पक्ष कुछ ब्लॉक मेंबरों को लेकर बांधवगढ़ रिसोर्ट घूमने आए थे। जो व्हिस्परिंग ग्रास रिसॉर्ट में ठहरे हुए थे। तब बबुली कोल व लवलेश कोल उन्हीं ब्लॉक मेंबरों को धमकाने के लिए रिसॉर्ट पहुंचे थे। लेकिन सतना पुलिस ने खेल बिगाड़ दिया था।

खबरें और भी हैं...