• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Rewa
  • BJP MLA Touched The Officer's Feet For Not Solving The Electricity Problem, Then Ate Onion Bread In The Night, The Protest Ended At Midnight

पहले मौन धरना, फिर छुए पैर:BJP विधायक ने बिजली समस्या का हल न होने पर छुए अधिकारी के पैर, फिर रात में खाई प्याज-रोटी, आधी रात समाप्त हुआ धरना

रीवा5 महीने पहले
  • मऊगंज विधायक प्रदीप पटेल का हाई बोल्टेज ड्रामा
  • चार दिन पहले भी दिए थे मौन धरना, दूसरे दिन एई मऊगंज को हटा दिया गया था

मध्यप्रदेश में अधिकारियों की लालफीताशाही के आगे सांसद-विधायक तक परेशान हैं। आलम है कि सत्ता पक्ष के विधायक को बिजली समस्या का हल न होने पर अधिकारियों के पैर छूने पड़ रहे हैं। हालांकि पैर हंसी मजाक में दोनों लोगों ने एक दूसरे के छूए। जिसका वीडियो गुरुवार को सोशल मीडिया में वायरल हो रहा था। वायरल वीडियो में दावा है कि बुधवार रात भाजपा जिला अध्यक्ष अजय सिंह विधायक को मनाने पहुंचे थे। लेकिन उन्हें खाली हाथ लौटना पड़ा था।

वहीं देर रात तक विद्युत ​कंपनी के मुख्य अभियंता व अधीक्षण यंत्री बृजेश शुक्ला आफिस में बैठकर विधायक को मना रहे थे। अंत में विद्युत अधिकारियों ने विधायक जी से कहा कि रात में घर चले जाएं। आप भी अच्छे से सोएं और हम लोगों को भी सोने दे। आप मान जाइये नेता जी हम आपके पैर छू रहे हैं। ऐसा सुनते ही विधायक जी खुद पैरों तरफ गए और झुककर एक दूसरे का अभिवादन स्वीकार किया। इसके बाद विधायक धरना समाप्त कर घर चले गए।

मऊगंज MLA का मौन धरना:BJP विधायक अपनी ही सरकार के नौकरशाहों से परेशान, बिजली विभाग की समस्या को लेकर अधीक्षण यंत्री कार्यालय में दिया धरना

बता दें कि मऊगंज से भाजपा विधायक प्रदीप पटेल चार दिन के बाद दूसरी बार धरने पर बीती रात बैठे थे। आरोप है कि पहले उन्होंने बिजली के जले ट्रांसफार्मर व कटी फटी केवल को बदलने के लिए कई बार शिकायत कर चुके थे। जब निराकरण नहीं हुआ तो वे अकेले ही अधीक्षण यंत्री कार्यालय में 67 मांगों को लेकर मौन धरना दिया था। मामले में देर रात प्रभारी मंत्री से लेकर कलेक्टर और विद्युत विभाग के आला अधिकारियों ने समस्या के समाधान के लिए दो दिन का वक्त मांगकर धरना समाप्त कराया था।

BJP विधायक का मौन धरना केस:प्रभारी मंत्री के फोन के बाद मऊगंज विधायक ने तोड़ा था मौन व्रत, 67 मांगे अधूरी, 2 जून तक दिया अल्टीमेटम

दूसरे दिन आनन फानन में मऊगंज एई हरिवंश शुक्ला को हटा दिया गया था। साथ ही 25 में से 4 खराब ट्रांसफार्मर बदल दिए गए। लेकिन 64 विंदुओं का प्रस्ताव अधूरा था। ऐसे में वे बुधवार की शाम 6 बजे से रात 12 बजे तक धरना में बैठे रहे। इस दौरान वे अपने साथ लेकर आए प्याज और रोटी को नमक लगाकर खाया था। साथ ही वे जमीन पर बिछाने के लिए गददा भी लिए थे। हालांकि आधी रात फिर विधायक को मनवाकर घर भेजा गया था।

खबरें और भी हैं...