घरेलू कलह को लेकर विवाद:रीवा जिले में सास के ऊपर सोते समय बहू ने डाला खौलता हुआ तेल, पहले UP के शंकरगढ़ फिर प्रयागराज, अब निजी अस्पताल में चल रहा उपचार

रीवा4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

रीवा जिले के जनेह थाना अन्तर्गत झोटिया गांव में एक बहू ने अपने सास के ऊपर खौलता हुआ तेल डाल दिया। पुलिस के मुताबिक जिस समय बहू ने वारदात की उस समय सास गहरी नींद में सो रही थी। ऐसे में बुरी तरह झुलस गई। घटना के बाद सास के चिल्लाने की आवाज सुनकर घर वाले पहुंचे। परिजन शंकरगढ़ अस्पताल ले गए, जहां प्राथमिक​ उपचार के बाद प्रयागराज मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया। वहां एक दिन वर्न यूनिट में भर्ती रही महिला के स्वास्थ्य में सुधार नहीं हो रहा था। ऐसे में परिजनों ने बेहतर इलाज के लिए एक निजी अस्पताल में दाखिल कराया।

जनेह थाना प्रभारी प्रदीप सिंह ने बताया कि एक अक्टूबर की रात करीब 11 बजे जगमंती उर्फ सुखमंती पटेल (65) पर उसकी बहू रेनू पटेल ने घरेलू कलह को लेकर कड़ाही में दो लीटर सरसों का तेल गर्म किया। जैसे ही तेल खौलने लगा और सास सो गई, वैसे ही कड़ाही उठाकर गर्म तेल उसके चेहरे सहित शरीर में डाल दिया। घटना के बाद वृद्धा का शरीर पूरी तरह जल गया। उपचार कराने परिजन शासकीय अस्पताल शंकरगढ़ लेकर पहुंचे। जहां से प्राथमिक उपचार के बाद प्रयागराज मेडिकल कालेज रेफर किया गया।

धारा 326 का अपराध कायम

वारदात के बाद 3 अक्टूबर को पुलिस ने प्रयागराज जाकर पीड़िता के बयान दर्ज करते हुए बहू के खिलाफ धारा 326 का अपराध कायम किया। पुलिस ने बताया कि आरोपी बहू रेनू को 3 अक्टूबर को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया। जहां से उसे जेल भेज दिया गया है।

पांच ​दिन गुजरे तो बच जाएगी सास
थाना प्रभारी की मानें तो चिकित्सकों की टीम ने कहा है कि यदि सास पांच दिन तक ठीक रही तो आगे बचा लिया जाएगा। क्योंकि इंसान के जलने पर 5 दिन बहुत महत्वपूर्ण होते है। ऐसे में बेहतर उपचार के लिए परिजन 4 अक्टूबर को निजी अस्पताल लेकर गए है। जहां अभी स्थिति खतरे में है।

खबरें और भी हैं...