• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Rewa
  • Fake JE Of Electricity Department Caught In Rewa, Was Charging Money In The Name Of Reducing The Bill

नकली अफसर की धौंस:रीवा में बिजली कंपनी का फर्जी JE पकड़ाया, बिल कम कराने के नाम पर वसूल रहा था रुपए, शक होने पर पब्लिक ने बुलाई पुलिस

रीवा10 महीने पहले

रीवा के सिविल लाइन थाना अंतर्गत ढेकहा मोहल्ले के कुछ जागरूक उपभोक्ताओं ने एक फर्जी JE को पकड़ा है। सूत्रों का दावा है कि नकली जूनियर इंजीनियर बिजली बिल कम कराने के नाम पर रुपए वसूल रहा था। शक होने पर बिजली कंपनी के अधिकारियों सहित पुलिस को मौके पर बुला लिया गया।

जहां नकली जेई से बिजली अधिकारियों ने बातचीत की तो पोल खुल गई। ऐसे में सहायक अभियंता एमपीईबी भूपेश विक्रम सिंह की शिकायत पर सिविल लाइन पुलिस ने आईपीसी की धारा 420 का अपराध कायम कर लिया है। साथ ही फर्जी JE को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया जा रहा।

सिविल लाइन थाना प्रभारी निरीक्षक अ​विनीश पाण्डेय ने बताया कि शनिवार की शाम अमित पाण्डेय निवासी पटना थाना बैकुंठपुर हाल निवास पाण्डेय टोला सिटी कोतवाली को गिरफ्तार किया था। फर्जी JE अमित पाण्डेय ढेकहा मोहल्ले पहुंचा था। जहां उसने आशीर्वाद प्लाजा के संचालक सुभाष तिवारी के पास पहुंचकर झांसा देने लगा।

सुभाष तिवारी से बोला कि आपका अगले माह का बिजली बिल 40 हजार रुपए के आसपास आएगा। अगर आप चाहे तो 10 हजार रुपए देकर बिल कम करा सकते है। ब्लैकमेल का तरीका सुनकर सुभाष तिवारी चौक गए। फिर उन्होंने असली विद्युत विभाग के जेई को फोन कर मौके पर बुलाया। तो फर्जी जेई की जालसाजी का खुलासा हुआ।

विद्युत विभाग ने किया पुलिस के हवाले
बिजली कंपनी के अधिकारियों ने दावा किया कि ढेकहा मोहल्ले से पकड़ा गया फर्जी जेई सुभाष तिवारी के साथ जालसाजी कर रहा था। इसके पहले उसने मैदानी निवासी राजवती कोरी और ढेकहा निवासी राजकुमारी पाण्डेय के साथ अवैध वसूली कर चुका है। ऐसे में सिविल लाइन थाने को सौंप दिया गया है।

बाइक चोरी का है आरोपी
बिजली कंपनी के सहायक अभियंता भूपेश विक्रम सिंह की शिकायत पर प्रकरण कायम कर लिया गया है। इस विषय में पुलिस अधिकारियों ने कहा कि फर्जी जेई पहले बाइक चोरी के आरोप में गिरफ्तार हो चुका था। उससे संबंधित सभी थानों से जानकारी एकत्र की जा रही है। जिससे बड़े नेटवर्क का खुलासा हो सके।