रीवा के रायपुर मोड में 8 घंटे से चक्काजाम:जले ट्रांसफार्मर बदलने की मांग को लेकर सोनौरी क्षेत्र के किसानों ने मुख्य मार्ग में गाड़ा तंबू, पुलिस ने ट्रैफिक डायवर्ट कर यातायात किया चालू

रीवा3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • चाकघाट-सोनौरी मार्ग ब्लाक, ​बिना ठोस आश्वासन मिले नहीं उठेंगे किसान

त्योंथर क्षेत्र के किसानों ने कई महीनों से जले ट्रांसफार्मर व लगातार होने वाली कटौती से परेशान होकर रोड में तंबू गाड़ते हुए प्रदर्शन शुरू कर दिया है। आरोप है कि सोनौरी क्षेत्र में तीन से चार माह से ट्रांसफार्मर जले है। वहीं कई जगह पुराने केबल जर्जर हो चुके है।

इसके बाद भी अन्य क्षेत्रों की अपेक्षा त्योंथर क्षेत्र के किसानों के साथ दोहरा रवैया अपनाते हुए विद्युत विभाग के जिम्मेदार कटौती कर रहे है। ​​जबकि किसानों से बिल उसी तरह लिया गया रहा है। लेकिन दर्जनों शिकायत के बाद भी समस्या का निराकरण नहीं किया जा रहा है।

ऐसे में धक हारकर क्षेत्र के किसान चाकघाट-सोनौरी मुख्य मार्ग को ब्लाक करते हुए शनिवार की सुबह 10 बजे से प्रदर्शन चालू कर दिया था। जो खबर लिखे जाने तक शाम 7 बजे तक जारी रहा। किसानो के प्रदर्शन को लेकर त्योंथर एसडीओपी समरजीत सिंह, सोहागी थाना प्रभारी आशीष पटेल दल बल के साथ सुबह से शाम तक मौजूद रहे पर कोई निष्कर्स नहीं निकला है। चर्चा है कि दोपहर विद्युत विभाग के कार्यपालन अभियंता मौके पर पहुंचे थे, लेकिन बिना कोई ठोस आश्वासन के किसान नहीं मानें है।

रायपुर मोड़ के बीच रोड पर लगाया तंबू
सोहागी थाना प्रभारी आशीष पटेल ने बताया कि किसान स्थानीय बिजली समस्या की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे है। हालांकि आंदोलन के चलते चाकघाट-सोनौरी रोड का आवागन बंद है। ऐसे में आंदोलन स्थल से पहले पुलिस ने यातायात को सुचारू रूप से चलाने के लिए ट्रैफिक डायवर्ट कर आने जाने दिया जा रहा है।

शाम के बाद बड़े अधिकारी के आने की चर्चा
किसानों ने बताया कि विद्युत विभाग के स्थानीय प्रशासन ने शाम तक कोई बड़े अधिकारी के आने की बात कहीं थी। लेकिन 7 बजे तक कोई नहीं पहुंचा था। वहीं किसानों ने दावा किया है कि जब तक समस्या का समाधान नहीं होगा। तब ​तक किसान आंदोलन स्थल से नहीं हटेगे।

खबरें और भी हैं...