सोनौरी किसान आंदोलन:रीवा में 27 घंटे बाद किसानों का धरना समाप्त, ऊर्जा विभाग के PS बोले- 3 करोड़ का 10 प्रतिशत जमा कराएं बिल, कल से मिलेगी भरपूर लाइट

रीवा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • विद्युत वितरण व्यवस्था व जले ट्रांसफार्मर बदलने की मांग को लेकर सोनौरी क्षेत्र के किसानों ने मुख्य मार्ग में तंबू गाड़ कर रहे थे आंदोलन

रीवा जिले के त्योंथर अंतर्गत चाकघाट-सोनौरी मार्ग स्थित रायपुर मोड में चल रहा किसानों का आंदोलन 27 घंटे बाद समाप्त हो गया है। बताया गया कि एक दिवसीय रीवा जिले के दौरे पर आए ऊर्जा विभाग के पीएस संजय दुबे ने शनिवार की सुबह 10 बजे से आंदोलन कर रहे किसानों को मौके पर बुलाकर रूबरू हुए। उन्होंने किसानों का ज्ञापन लेकर समस्याएं सुनी।

इसके बाद विद्युत अमले से वस्तु स्थिति जानी। जहां पाया कि सोनौरी क्षेत्र के किसानों व आम उपभोक्ताओं का तकरीबन 3 करोड़ से ज्यादा बिजली का बिल बकाया है। ऊर्जा विभाग के पीएस ने किसानों को आश्वासन देते हुए कहा कि आप लोग 10 प्रतिशत बिजली का बिल जमा कराएं। कल से ही विद्युत वितरण व्यवस्था सही हो जाएगी।

ट्रैक्टर से त्योंथर पहुंचे किसान
बता दें कि स्थानीय विद्युत अमले द्वारा पीएस के आने की जानकारी मिलने के बाद कई ट्रैक्टर से किसान त्योंथर पहुंचे। जिन्होंने ऊर्जा विभाग के पीएस संजय दुबे से मिलकर अपनी समस्याएं रखी थी। किसानों का आरोप था कि सोनौरी क्षेत्र में तीन से चार माह से ट्रांसफार्मर जले है। वहीं कई जगह पुरानी केबल हो चुकी हैं। वहीं अन्य क्षेत्रों की अपेक्षा त्योंथर क्षेत्र के किसानों के साथ विद्युत विभाग का दोहरा रवैया है। इसीलिए सबसे ज्यादा कटौती होती है। दर्जनों शिकायत के बाद भी समस्या का निराकरण नहीं किया जा रहा है। तब पीएस ने किसानों को समझाइश देकर ​बकाया बिल जमा करने की अपील की। बोले कि आप लोग 10 प्रतिशत भी बिल जमा करा देंगे। तो समस्या का समाधान कल ही मिल जाएगी।

रायपुर मोड़ के बीच रोड पर लगाया था तंबू
सोहागी थाना प्रभारी आशीष पटेल ने बताया कि सोनौरी क्षेत्र के किसान स्थानीय बिजली समस्याओं की मांग को लेकर शनिवार की सुबह 10 बजे से लेकर रविवार की दोपहर करीब 1 बजे तक प्रदर्शन करते रहे। हालांकि आंदोलन के चलते चाकघाट-सोनौरी रोड का आवागमन पूर्णत: बंद रहा। ऐसे में आंदोलन स्थल से पहले पुलिस ने यातायात को सुचारू रूप से चलाने के लिए ट्रैफिक डायवर्ट कर रखा था।

ये थी किसानों की मांगे
किसानों के समूह ने ज्ञापन के माध्यम से कहा कि त्योंथर क्षेत्र के कई गांवों के ट्रांसफार्मर जले है। लगातार कटौती से किसान और आम जनता परेशान है। साथ ही पुरानी ​तारें जर्जर है। जहां केबल लगी वो भी घटिया है। जिससे पिघलकर ​कट चुकी है। इन्हीं तमाम समस्याओं को लेकर रायपुर रोड में तंबू गाड़ते हुए आधा सैकड़ा किसान प्रदर्शन कर रहे थे।

खबरें और भी हैं...