रीवा में बाप ने बेटे को मार डाला:रातभर से लापता बेटा नशे में धुत होकर सुबह घर लौटा; छप्पर पर चढ़कर खपरैल तोड़ने लगा तो पिता ने गुस्से में मारा लट्‌ठ, मौत

रीवा5 महीने पहले
घर के सामने मौजूद पुलिस बल। इनसेट में मृतक जितेंद्र तिवारी।

बैकुंठपुर थाना क्षेत्र के बडगइयान गांव में बेटे की हरकतों से परेशान बाप ने उसकी लट्‌ठ मारकर हत्या कर दी। रातभर से लापता बेटा गुरुवार सुबह नशे में धुत होकर घर पहुंचा। यहां वह फिर उत्पात मचाने लगा। पिता ने गुस्से में उसे लट्‌ठ मार दिया। उसकी मौके पर ही मौत हो गई। पुलिस ने शव को पोस्टमॉर्टम करवा कर शव परिजनों को सौंप दिया।

बैकुंठपुर थाना प्रभारी निरीक्षक राजकुमार मिश्रा ने बताया कि लूट, मारपीट जैसी घटनाओं को अंजाम देने वाला जितेंद्र तिवारी (26) बुधवार-गुरुवार रात में घर नहीं आया। गुरुवार सुबह 5 बजे जब घर आया तो वह नशे में धुत था। यहां पहुंचते ही वह विवाद करने लगा। यही नहीं, घर के छप्पर में चढ़कर खपरैल के घर को पैरों से कुचल रहा ​था। उसके पिता शैलेन्द्र तिवारी ने उसे समझाने की कोशिश की, लेकिन वह नहीं माना। उल्टा पिता से ही झगड़ पड़ा। गुस्से में आकर पिता ने उसे लट्‌ठ मार दिया। इसके बाद जितेंद्र ने मौके पर ही दम तोड़ दिया।

घटना के साक्ष्य जुटाती FSL यूनिट।
घटना के साक्ष्य जुटाती FSL यूनिट।

गांव में मची अफरा-तफरी
जितेंद्र तिवारी गांव में आवारागर्दी करता था। वह आए दिन मारपीट, लोगों से पैसे छुड़ाना जैसी हरकतें करता रहता था। गांव के लोग उससे परेशान थे। वारदात के बाद गांव में अफरा-तफरी मच गई। मामले में कोई कुछ भी बोलने के लिए तैयार नहीं है। घर के सदस्यों ने ही पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने पिता को हिरासत में लिया है। मौके पर सिरमौर SDOP पीएस परस्ते, FSL यूनिट के वरिष्ठ वैज्ञानिक अधिकारी डॉ. आरपी शुक्ला टीम के साथ मौके पर पहुंचकर घटना के साक्ष्य जुटाए।

7 दिन पहले बड़े भाई की हुई थी शादी
आरोपी पिता शैलेन्द्र तिवारी के दो बेटे और चार बेटियां हैं। दो ​बच्चियों का विवाह पहले ही हो चुका है, जबकि दो की शादी होना है। बड़े बेटे का विवाह 7 दिन पहले ही हुआ था, जबकि जितेंद्र छोटा बेटा था। शादी वाले घर में रिश्तेदार होने के बाद भी जितेंद्र शराब पीकर उत्पात मचाता रहा।

खबरें और भी हैं...