तिलक समारोह से लौटते समय वारदात:रीवा में पुरानी रंजिश को लेकर युवक पर चाकू से हमला, दूसरे दिन आरोपी पिता-पुत्र गिरफ्तार, पुलिस ने भेजा जेल

रीवाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सेमरिया थाना अंतर्गत हिनौता गांव का मामला

रीवा जिले के सेमरिया थाना अंतर्गत हिनौता गांव में हत्या का प्रयास करने वाले पिता-पुत्र को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। पुलिस के मुताबिक तीन दिन पहले फरियादी तिलक समारोह से लौट रहा था। तभी पुरानी रंजिश को लेकर आरोपियों ने चाकू से हमला कर दिया।

शोर-शराबा सुनकर गांव के लोग भाग कर मौके पर पहुंचे। जिन्होंने घायल को आरोपियों से बचाते हुए पुलिस को सूचना दी। इसके बाद पीड़ित को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र सेमरिया में भर्ती कराया गया। लेकिन हालत को नाजुक देखते हुए एसजीएमएच रेफर कर दिया। जहां युवक अब खतरे से बाहर है।

थाना प्रभारी अशोक गर्ग ने बताया कि 11 और 12 दिसंबर की दरमियानी रात्रि फरियादी मोले प्रसाद मिश्रा अपने पुत्र विनय मिश्रा निवासी ​हिनौता 588 शुकलन टोला में आयोजित तिलक कार्यक्रम में शामिल होने गया था। तभी रास्ते में विजय कुमार उर्फ राजन द्विवेदी (24) और उसके के पिता सुरेश द्विवेदी पुत्र गोविंद द्विवेदी (55) निवासी हिनौता मिल गए और रास्ता रोक लिया।

जब पीड़ित पक्ष ने विरोध किया तो आरोपी पिता-पुत्र ने दोनों को लाठी डंडे से मारपीट करने लगे। इस दौरान आरोपियों ने युवक की लात और घूंसों से पिटाई करने के बाद चाकू घोंप दिया।

घायल के स्वास्थ्य में हो रहा सुधार
घटना की जानकारी मिलने पर घायल युवक को पुलिस द्वारा सेमरिया सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र ले जाया गया। यहां भर्ती रहे युवक की गंभीर हालत को देखते हुए उसे एसजीएमएच रीवा रेफर कर दिया है। इधर संजय गांधी स्मारक हॉस्पिटल के चिकित्सकों ने घायल के स्वास्थ्य में सुधार बताया है। वहीं दूसरी तरफ मुखबिर की सूचना पर आरोपियों को पकड़ लिया। जिनके पास से घटना में इस्तेमाल चाकू भी बरामद हो गया है।

केन्द्रीय जेल रीवा भेजा
वारदात के बाद मौके पर पहुंची सेमरिया पुलिस ने घायल का अस्पताल में बयान ली। साथ ही मेडिकल रिपोर्ट को देखते हुए आरोपियों के खिलाफ थाने में आईपीसी की धारा 307, 294, 323, 506, 34 के तहत प्रकरण पंजीबद्ध किया। इसके बाद आरोपी विजय कुमार द्विवेदी और उसके पिता सुरेश द्विवेदी को गिरफ्तार किया। बीते दिन जिला न्यायालय में पेश कर केन्द्रीय जेल रीवा भेज दिया गया।