रीवा में आग ने मचाई तबाही:नरवाई में लगी आग गांव तक पहुंची, 5 कच्चे घर, 1 ट्रक और 1 दुकान फूंकी; 1 किसान का 100 क्विंटल अनाज खाख

रीवा10 दिन पहले

रीवा जिले के गोविंदगढ़ थाना अंतर्गत नकटा गांव के खेतों की नरवाई में लगी आग गांव तक पहुंच गई। देखते ही देखते आग ने विकराल रूप धारण कर लिया। चोरों तरफ फैली आग से 5 कच्चे घर, एक ट्रक, एक दुकान और आधा दर्जन सबमर्सिबल पंप जलकर ट्यूबवेल में गिर गए है। घटना के बाद रीवा नगर निगम और गुढ़ नगर परिषद की फायर बिग्रेड मौके पर पहुंची है।

जबकि गोविंदगढ़ नगर परिषद का दमकल वाहन खराब होने के कारण फायर टैंकर की मदद ली गई है। दावा है कि आग ने आसपास के तीन गांवों में जमकर तबाही मचाई है। लेकिन सबसे ज्यादा नुकसान नकटा गांव में हुआ है। हालांकि आगजनी लपटे बांसा और बेयर हाउस तक पहुंची है। यहां कई लोगों के खेतों में रखा भूसा नरवाई धू धूकर जल गई है।

ट्रक और 100 क्विंटल अनाज जला
गोविंदगढ़ थाना प्रभारी उपनिरीक्षक मृगेन्द्र सिंह ने बताया कि शनिवार की दोपहर तीन बजे से लगी आग का कहर रात 9 बजे तक जारी रहा है। आगजनी में सबसे ज्यादा नुकसान नकटा गांव निवासी धमेन्द्र दुबे और अंबुज द्विवेदी का हुआ है। दावा है कि धमेन्द्र दुबे पुत्र भगवानदीन (35) का ट्रक और अंबुज द्विवेदी का 70 क्विंटल गेहूं और 35 क्विंटल चावल जल गया है।

इनका घर जला
इसी तरह बृजेश तिवारी की कच्चे घर में संचालित हो रही किराना की दुकान जल गई है। जबकि विनय दुबे, बृजेश तिवारी, देवकी नंदन द्विवेदी, अंकित द्विवेदी, अजय अग्निहोत्री का कच्चा घर, भूसा और ट्यूबवेल घर जल गया है। वहीं आगजनी के दौरान खेतों में डले आधा दर्जन किसानों के सबमर्सिबल पंप जलकर होल में गिर गए है। साथ ही गांव के लोग भूसा विहीन हो गए है।

लाइट गोल होने से सबसे ज्यादा नुकसान
पुलिस अधिकारियों ने बताया कि शनिवार की दोपहर से ही गोविंदगढ़ क्षेत्र के कई गांवों की लाइट गोल है। ऐसे में किसान आग लगी होने के बावजूद गृहस्थी का समान नहीं बचा पाए। अगर लाइट होती तो सभी लोग अपने अपने सबमर्सिबल पंप चलाकर आग पर काबू पा लेते। लेकिन विद्युत विभाग की लापरवाही से कई किसान रोड पर आ गए।

खबरें और भी हैं...