रीवा में दिव्यांग नाबालिग से गैंगरेप:बोलने-सुनने में असमर्थ 16 साल की लड़की को रात भर बंधक बनाए रखा; गांव की महिला ने आरोपियों को अपने सुने घर में जगह दी

रीवा3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
थाना माऊगंज पुलिस ने महिला समेत सभी आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। - Dainik Bhaskar
थाना माऊगंज पुलिस ने महिला समेत सभी आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है।

रीवार में रविवार को 16 साल की दिव्यांग लड़की से गैंगरेप का मामला सामने आया है। वारदात मऊगंज थाना इलाके के गांव की है। शनिवार को गांव के तीन युवकों ने सौच के लिए गई लड़की को पहले किडनैप किया। फिर गांव की एक पहचान की महिला के मकान पर ले गए। यहां रात भर उसके साथ रेप किया। इसके बाद किसी को कुछ न बताने के लिए लड़की को दो सौ रुपए दिए। पीड़ित सुनने और बोलने में असमर्थ है।

मऊगंज थाना प्रभारी श्वेता मौर्य ने बताया कि शुक्रवार शाम 6 बजे किशोरी घर से 100 मीटर दूर शौच करने गई थी। गांव के ही तीन युवक पहुंचे और बाइक पर बैठाकर डेढ़ किलोमीटर दूर गांव में रहने वाली ममता साकेत के घर ले गए। यहां रात भर बंधक बनाकर किशोरी से रेप किया।

मौर्य ने बताया कि दूसरे दिन शनिवार सुबह 11 बजे घर पहुंची किशोरी से परिजन ने रातभर गायब रहने का कारण पूछा तो उसने इशारों में बताया। परिजन अपने स्तर से पूरे मामले की तह तक गए तो पता चला कि गांव की ही महिला घटना में शामिल है। उसने किशोरी को 200 रुपए देकर किसी से कुछ न कहने के लिए दबाव बनाया था। परिवार ने शनिवार रात मऊगंज थाने पहुंचकर शिकायत की। तीनों आरोपियों के खिलाफ महिला समेत चार आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है।

फॉरेंसिक एक्सपर्ट ने की जांच
सीनियर फॉरेंसिक ऑफिसर डॉ. आरपी शुक्ला ने बताया कि केस दर्ज होने के बाद पीड़ित के बताए अनुसार टीम ने घटनास्थल का निरीक्षण किया। जिस महिला पर गैंगरेप में सहयोग करने का आरोप है, उसकी स्थिति संदिग्ध दिखी। मौके पर एक गद्दा मिला है। यहां से कुछ सैंपल ले लिए गए हैं।

मूक बधिर एक्सपर्ट ने लिए बयान
मऊगंज पुलिस ने बताया कि रविवार को पीड़िता रीवा आई थी। वरिष्ठ चिकित्सकों की टीम ने मेडिकल चेकअप किया है। मूक बधिर स्कूल से एक्सपर्ट की टीम आई, जिसने अपने स्तर से किशोरी के बयान लिए। गैंगरेप की पुष्टि होने पर तीन युवकों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है।

खबरें और भी हैं...