रीवा में अवैध रूप से संचालित पेट्रोल पंप सील:वर्ष 2012 में लीज खत्म होने के बाद भी चल रहा था शहर का कल्याण पेट्रोल पंप, जिला प्रशासन ने कराई तालाबंदी

रीवा3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 28 अगस्त को आए फैसले के बाद नगर निगम व राजस्व अधिकारियों की मौजूदगी में कराई गई सीजिंग

रीवा शहर में अवैध रूप से संचालित हो रहे पेट्रोल पंप को जिला प्रशासन ने सील करा दिया है। अधिकारियों ने बताया कि कल्याण पेट्रोल पंप की लीज वर्ष 2012 में खत्म हो चुकी थी। बावजूद नियमों की अनदेखी करते हुए संचालन किया जा रहा था। ऐसे में पेट्रोल पंप के अधिपत्त को लेकर 28 अगस्त 2021 को आए फैसले के बाद नगर निगम व राजस्व अधिकारियों की मौजूदगी में तालाबंदी कराते हुए सीजिंग करा दी गई है।

इस कार्रवाई में नायब तहसीलदार यतीश शुक्ला, सीएसपी सच्चितानंद प्रसाद, सिविल लाइन थाना प्रभारी ओंकार तिवारी, फूड कन्ट्रोलर एएस खान, अधीक्षक नापतौल दीपक गौर, निगम कार्यपालन यंत्री एसके चतुर्वेदी, निगम सचिव एमएस सिद्दीकी, सहायक यंत्री राजेश मिश्रा, उपयंत्री रमेश सिंह, राजस्व निरीक्षक रावेन्द्र सिंह, राजेश सिंह, यज्ञनारायण सोहगौरा, अतिक्रमण प्रभारी आनंदपाल सिंह अपनी टीम के साथ मौजूद रहें।

ये है मामला
बता दें कि नगर निगम वार्ड क्र. 4 पडरा तहसील हुजूर के खसरा क्र. 109 क्षेत्रफल 0.88 एकड़ भूमि का स्वामित्व नगर निगम का है। 28 अगस्त को न्यायालय ने अंतिम निर्णय पारित कर विनीता पत्नी पुष्पेन्द्र सिंह निवासी मढ़ी का दावा खारिज कर दिया गया है। क्योंकि विनीता सिंह द्वारा अवैध रूप से पेट्रोल पंप का संचालन कर अतिक्रमण कर रखा था। ऐसे में शनिवार की दोपहर जिला प्रशासन ने संयुक्त टीम बनाकर पेट्रोल पंप को सीज करा दिया।

खबरें और भी हैं...