पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Rewa
  • Medical Student Went To Bath With Friends, Drowned In Silpara Canal, Stopped Canal Water For Rescue

सेमेस्टर पूरा होने की खुशी मातम में बदली:दोस्तों के साथ नहाने गया मेडिकल स्टूडेंट सिलपरा नहर में डूबा, SDRF ने 18 घंटे बाद शव बरामद किया

रीवा3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
स्टीमर की मदद से शव निकालती एसडीआरएएफ टीम। - Dainik Bhaskar
स्टीमर की मदद से शव निकालती एसडीआरएएफ टीम।
  • होमगार्ड और एसडीआरएफ के गोताखोर दूसरे दिन स्टीमर लेकर उतरे नहर में

दोस्तों के साथ सिलपरा नगर में नहाने गया मेडिकल स्टूडेंट का शव 18 घंटे बाद बरामद कर लिया गया है। यहां गुरुवार शाम करीब 6 बजे वह पानी के तेज बहाव में बह गया था। एसडीआरएएफ ने स्टीमर की मदद से शुक्रवार दोपहर करीब 12 बजे बिजली उत्पादन केंद्र के पास लगे छन्ने से शव निकाला है। पुलिस ने बताया कि दोस्त को बहता हुआ देखकर पहले साथियों ने सोचा कि वह तैरना जानता होगा इसलिए पानी के साथ आगे की ओर जा रहा है। लेकिन जब देखते ही देखते ओझल हो गया, तो डायल 100 सहित बिछिया पुलिस को सूचना दी गई।

जानकारी के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने होमगार्ड और एसडीआरएफ के गोताखोरों की मदद से रेस्क्यू किया गया, लेकिन सफलता नहीं मिली। इसके बाद मामले की जानकारी श्याम शाह मेडिकल कॉलेज के प्रबंधन को दी गई। डीन ने संभागायुक्त, कलेक्टर और एसपी को अवगत कराया। कुछ देर बाद जिलेभर के आला अधिकारी सिलपरा नहर में पहुंच गए। जहां नहर का पानी बंद कराया गया। अंधेरा होने के कारण तलाश बंद कर दी गई। दूसरे दिन सुबह 7 बजे से सर्चिंग चालू करते हुए पांच घंटे की मशक्कत के बाद 12 बजे शव को बरामद कर पीएम के लिए अस्पताल भेज दिया गया है।

सर्चिंग में लगी बिछिया पुलिस।
सर्चिंग में लगी बिछिया पुलिस।

ये है मामला
​बिछिया थाना प्रभारी जगदीश सिंह ठाकुर ने ​बताया कि श्याम शाह मेडिकल कॉलेज में अध्ययनरत एमबीबीएस अंतिम वर्ष का छात्र डॉ. रौनक भंडारी निवासी खरगोन समेत 6 छात्र गुरुवार शाम सिलपरा नगर में नहाने आते थे। शाम साढ़े 6 बजे रौनक भंडारी नहर में नहाते हुए बह गया। कुछ देर बाद देखते ही देखते वह गहरे पानी में समा गया। घटना के बाद साथियों ने बचाने का प्रयास किया, लेकिन कामयाब नहीं हो पाए। सूचना पर बिछिया पुलिस ने पहुंचकर घटनास्थल का निरीक्षण किया।

कंट्रोल रूम से गोताखोरों की टीम बुलाई गई। बोट की मदद से नहर में लापता छात्र को तलाशती रही। हालांकि देर शाम तक शव बरामद नहीं हो पाया। फिर दूसरे दिन पुन: 7 बजे से एसडीआरएफ के गोताखोर स्टीमर की मदद से सर्चिंग करने उतरे थे। जहां कई ​टीमों को लगाकर पांच घंटे की मेहनत के बाद बिजली उत्पादन केंद्र के पास लगे छन्ने में फंसा शव मिला।

रेस्क्यू का अधिकारियों ने लिया जायजा
संभागायुक्त अनिल सुचारी, कलेक्टर इलैया राजा टी, एसपी राकेश कुमार सिंह, नगर निगम कमिश्नर मृणाल ​मीणा मौके पर पहुंच गए। उन्होंने घटनाक्रम की जानकारी ली। रेस्क्यू कार्य तेज करने के निर्देश दिए। गोताखोरों के साथ पुलिस की अलग-अलग टीमें भी छात्र के तलाश में लगाई गई थीं।

नहर में बढ़ा अचानक से पानी
रेस्क्यू टीम ने बताया, गुरुवार शाम नहर का पानी बंद कर दिया गया था। उम्मीद थी कि दूसरे दिन नहर का पानी कम हो जाएगा, तो काम में आसानी होगी। नहर में अचानक से पानी बढ़ रहा है क्योंकि ​कई ऊंचाई वाले क्षेत्रों में जहां पानी फंसा था, वह उतर रहा है। ऐसे में नहर में अचानक से बढ़ रहा पानी के कारण रेस्क्यू करने में बाधा आ रही थी।

1 किमी का ऐरिया छान रही थी गोताखोरों की टीम
बिछिया थाना प्रभारी ने बताया, उम्मीद थी कि बिजली उत्पादन संयत्र केंद्र के पास ही शव गिरकर नीचे छन्ने में फंसा होगा। अंत में वही हु्आ। गोताखोर स्टीमर की मदद से कांटे के छाल में फंसाकर शव को उपर निकाले हैं।

घटना से कॉलेज में हड़कंप
पुलिस ने बताया, आधा दर्जन छात्र सेमेस्टर पूरा होने की खुशी में नहर में मस्ती करने गए थे। घटना के बाद से छात्रों में हड़कंप है। साथी छात्रों की सेमेस्टर पूरा होने की खुशी मातम में बदल गई। वहीं, दोस्तों का रो रोकर बुरा हाल है। पुलिस का कहना है, गुरुवार शाम परिजनों को सूचना भिजवा दी गई थी। उनके पहुंचने के बाद ही पीएम किया गया है।