पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Rewa
  • Model Maternity Wing Of District Hospital Relying On 3 Contract Nurses, Earlier 55 Nurses Were Stationed, Then Women Used To Get Proper Treatment

नर्सिंग एसोसिएशन की हड़ताल का असर:3 संविदा नर्सों के भरोसे जिला अस्पताल का मॉडल मेटरनिटी विंग, पहले 55 नर्सेस रहती थी तैनात, तब महिलाओं को मिलता था समुचित उपचार

रीवा3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जिला अस्पताल। - Dainik Bhaskar
जिला अस्पताल।
  • नर्सों के अनिश्चितकालीन आंदोलन से मेडिकल कॉलेज से लेकर जिला अस्पताल की व्यवस्थाएं हुई धरासाई

नर्सों के अनिश्चितकालीन आंदोलन से कुशा भाऊ ठाकरे जिला चिकित्सालय की मॉडल मेटरनिटी विंग की व्यवस्थाएं धरासाई हो गई है। आलम है कि जहां स्त्री एवं प्रसूति विभाग में 55 नर्सों पर जिला अस्पताल की जिम्मेदारी रहती थी। वहां महज तीन संविदा नर्से सेवाएं दे रही है, वो भी तीन शिफ्टों में। अस्पताल सूत्रों का कहना है​ कि एक नर्स सुबह आती है। बाकी दो नर्से शाम और रात्रि में ड्यूटी करती है। जिनपर औसत एक दर्जन गर्भवती और प्रसूताओं के स्वास्थ्य की देखभाल का जिम्मा होता है।

एक दर्जन होती है रोजाना डिलेवरी
बताया गया कि कुशा भाऊ ठाकरे जिला चिकित्कसाल में औसतन रोजाना एक दर्जन से ज्यादा डिलेवरी होती है। जहां पर इन सभी के स्वास्थ्य और देखभाग का जिम्मा सिर्फ एक सविंदा नर्स पर होता है। जो आठ घंटे तक एक मरीज से दूसरे मरीज, दूसरे से तीसरे के बीच भागती रहती है।

मॉडल मेटरनिटी विंग।
मॉडल मेटरनिटी विंग।

12 नर्सों की तैनाती
मॉडल मेटरनिटी विंग से मिली जानकारी के अनुसार सामान्य हालात में सिर्फ लेबर रूम में लगभग एक दर्जन नर्सेस की तैनाती रहती थी। लेकिन नर्सों के अनिश्चत कालीन हड़ताल के बाद उनकी भरपाई सिर्फ एक नर्स से की जा रही है। हालां​कि स्वास्थ्य विभाग के जिम्मेदारों को पूरे मामले की जानकारी है। लेकिन कोई किसी से कुछ नहीं कह रहा है। सब यही कह रहे है, व्यवस्थाएं ठीक चल रही है।

मेटरनिटी विंग के लिए 30 बेड आरक्षित
बताया गया कि जिला अस्पताल में मेटरनिटी विंग के लिए 30 बेड आरक्षित है। जहां औसतन एक दर्जन नर्सों की सेवाएं ली जाती थी। लेकिन वर्तमान समय में एक नर्स से काम चलाया जा रहा है। नर्सिंग एसोसिएशन के अनिश्चितकालीन आंदोलन के छठवें दिन सोमवार फंसने के कारण दिनभर महिलाएं परेशान रहीं।

एक नजर में
- जिला अस्पताल में नर्स- 88
- मेटरनिटी विंग में नर्स- 55
- एक शिफ्ट में -12
- संविदा नर्स - 3

खबरें और भी हैं...