अवैध अतिक्रमण पर कार्रवाई:रीवा में नगर निगम ने ढहाई 11 दुकानें, स्थानीय लोगों ने किया विरोध, पुलिस से हुई झड़प, दुकानों को प्रशासन ने बताया नियम विरूद्ध

रीवा10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जोन क्रमांक 2 अंतर्गत वार्ड क्रमांक-18 रसिया मोहल्ले का मामला

रीवा शहर में अवैध अतिक्रमण पर संयुक्त टीम ने बड़ी कार्रवाई की है। सूत्रों की मानें तो शनिवार की दोपहर जोन क्रमांक 2 अंतर्गत वार्ड क्रमांक-18 स्थित रसिया मोहल्ले में जेसीबी की मदद से पांच अतिक्रमण गिरा दिए गए। हालांकि स्थानीय लोगों ने एकतरफा कार्रवाई का विरोध किया।

आरोप था कि नगर निगम ने पुलिस के डंडे के दम पर अचानक कार्रवाई की है। जो पूरी तरह से गलत है। निगम द्वारा महज 2 दिन पहले दुकान हटाने संबंधित नोटिस दी गई थी। जबकि नियमानुसार नगर निगम को 15 दिन पहले नोटिस देना चाहिए। लेकिन नगर निगम ने गरीबों की रोजी-रोटी में जेसीबी चला दी।

इनकी दुकाने तोड़ी
हुजूर तहसील के नायब तहसीलदार यतीश शुक्ला ने बताया कि शनिवार की दोपहर रसिया मोहल्ले में संचालित हो रही नियम विरूद्ध दुकानों को ​गिराया गया है। जिसमे कुशुमकली साकेत पति हीरालाल साकेत की तीन दुकाने, माला रावत पति विनोद कोल की तीन दुकाने, शकुंतला यादव पति राम जियावन साकेत की दो दुकाने, मुन्नी आदिवासी पति स्वर्गीय शिरोमणि की एक दुकान, रामलखन यादव पिता गंगा यादव की दो दुकानें शामिल है।

टीम में ये अधिकारी रहे शामिल
अवैध अक्रिमण हटाते समय जिला प्रशासन की ओर से नायब तहसीलदार यतीश शुक्ला, पुलिस की ओर से सीएसपी एसएन प्रसाद, डीएसपी यातायात मनोज वर्मा, नगर निगम से एसके त्रिपाठी, एसके चतुर्वेदी, दिलीप तिवारी सहित अतिक्रमण दस्ता व भारी संख्या में पुलिस बल मौजूद रहा। इस संबंध में जोनल अधिकारी एसके त्रिपाठी ने कहा कि आवासीय पट्टे पर पांच लोगों ने मिलकर 11 व्यवसायिक दुकाने बना ली थी। ऐसे में आए दिन जाम की स्थिति निर्मित हो रही थी। जिसे निगम द्वारा हटा दिया गया है।

खबरें और भी हैं...