रीवा में प्रॉपर्टी डीलर के मर्डर का खुलासा:आंगनबाड़ी​ में सुपरवाइजर बनाने ऐंठ लिए थे 42 लाख, न नियुक्ती दिलाई न पैसे वापस किए तो 5 लाख की सुपारी देकर करा दी हत्या

रीवा3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 13 लोगों ने मिलकर की थी वारदात, अब तक 5 नाबालिग व 3 बालिग गिरफ्तार, अमहिया पुलिस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर किया हत्या का पर्दाफाश

रीवा शहर के बहुचर्चित प्रॉपर्टी डीलर के मर्डर का खुलासा हो गया है। दावा है कि मृतक महिला बाल विकास विभाग​ में सुपरवाइजर के पद पर ज्वानिंग कराने के नाम पर 42 लाख रुपए ऐठ लिए थे। इधर कई वर्ष बीत जाने के बाद भी जब सुपरवाइजर के पद पर नियुक्ती नहीं हुई तो आरोपी पक्ष अपना पैसे वापस मांगने लगा।

जबकि प्रॉपर्टी डीलर पैसे वापस करने में आना-कानी कर रहा था। ऐसे में थक हारकर आरोपी ने 5 लाख रुपए की सुपारी देकर हत्या करा दी। वारदात को 13 लोगों ने मिलकर अंजाम दिया था। अब तक पुलिस ने 5 नाबालिग व 3 बालिग आरोपियों को गिरफ्तार कर चुकी है। जबकि पांच लोग अभी भी फरार है।

अमहिया थाने में हत्या का पर्दाफाश करते हुए सीएमपी प्रतिभा शर्मा ने बताया कि 14 अगस्त की रात ललपा तालाब श्रवण कुमारी स्कूल के पास प्रॉपर्टी डीलर रोहणी प्रसाद पटेल की अज्ञात आरोपियों ने धारदार हथियार से हमला कर हत्या कर दी थी। वारदात की सूचना के बाद अमहिया थाना प्रभारी शिवा अग्रवाल ने मौके पर पहुंचकर मृतक के शव को कब्जे में लेते हुए पीएम के लिए डेड बॉडी अस्पताल में रखा दी थी।

अंधी हत्या के दूसरे दिन एसपी राकेश सिंह ने घटना स्थल का निरीक्षण कर एफएसएल यूनिट को मौके पर बुलाया। साथ ही हत्या के खुलासे के लिए तीन टीमों का गठन किया। जिसमें अमहिया थाना प्रभारी शिवा अग्रवाल, स्काट प्रभारी अरविन्द सिंह राठौर और सायबर सेल प्रभारी वीरेन्द्र पटेल, थाना प्रभारी कोतवाली आदित्य प्रताप सिंह, थाना प्रभारी विश्वविद्यालय शिवपूजन बिसेन समेत अन्य पुलिस अधिकारी मर्डर के खुलासे पर लगे हुए थे। तब अंधी हत्या के मुख्य आरोपियों को 28 अगस्त की रात गिरफ्तारी हुई।

सुपारी लेने वाले की जुबानी हत्या की कहानी
सुपारी लेने वाले रवि पाण्डेय ने बताया कि विनय मिश्रा के कहने पर उसने 5 लाख रुपए लिए थे। रकम देते समय विनय मिश्रा के साथ नीलेश गौतम भी साथ में शामिल थे। इसके बाद रवि पाण्डेय ने पूरी फील्डिंग तैयार कर 5 से 6 नाबालिगों की गैंग तैयार की। जिनको पांच से 10 हजार रुपए दिए गए थे। साथ ही योजनावद्ध तरीके से 14 अगस्त की रात मर्डर करा दिया।

रीवा में प्रॉपर्टी डीलर की हत्या:जब तक दम नहीं तोड़ा तब तक लाठी-डंडों से पीटते रहे बदमाश; दोपहर में मिली थी धमकी, रात को घात लगाकर किया हमला

वापस नहीं कर रहा था 42 लाख
सुपारी देने वाले मुख्य आरोपी विनय मिश्रा की मानें तो मृतक रोहणी पटेल उसकी पत्नी और कुछ रिश्तेदारों को महिला बाल विकाय योजना में सुपरवाइजर की नौकरी दिलाने के एवज में 42 लाख रुपए ऐंठ लिया था। इसी बात को लेकर विनय मिश्रा अपने दूर के रिश्तेदार नीलेश गौतम के माध्यम से हत्या की साजिस रची। पूरी योजना में 12 से 13 लोग शामिल हुए। जिनमें 8 आरोपी पुलिस गिरफ्त में आ चुके है, जबकि 5 अन्य आरोपियों की तलाश चल रही है।

रीवा प्रॉपर्टी डीलर मर्डर केस:सुपारी देकर कराई गई थी प्रॉपर्टी डीलर की हत्या, 5 नाबालिग बच्चे गिरफ्तार, कत्ल की सुपारी देने वाला व लेने वाला फरार

आरोपियों के कब्जे से हत्या का सामान बरामद
वारदात के बाद अमहिया थाने में अपराध क्रमांक 265/2021 आईपीसी की धारा 302, 120 बी, 34 ताहि का मामला दर्ज किया गया था। फिर क्रमश: आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद हत्या के समय उपयोग किए गए चार डंडे, एक चाकू और करीब तीन बाइकें जब्त हुई है। फरार पांच आरोपी भी पुलिस की रडार में है। जिनको जल्द गिरफ्तार करने का दावा किया जा रहा है।

ये आरोपी आए पकड़ में
अमहिया पुलिस ने 28 अगस्त की रात विनय मिश्रा पिता दिवाकर (33) निवासी नेहरू नगर वार्ड क्र. 14, रवि पाण्डेय पिता दिनेश पाण्डेय (21) निवासी बरा हाल सुन्दर नगर वार्ड क्र.9, अनुकूल उर्फ अंकल मिश्रा पिता राघवेन्द्र प्रसाद मिश्रा (21) निवासी गोंदहा थाना शाहपुर हाल वार्ड क्र. 14 अरुण नगर को पकड़ा गया है।

खबरें और भी हैं...