दूसरे दिन भी लोकायुक्त की दबिश:रीवा में 4 हजार रुपए की रिश्वत लेते पटवारी रंगे हाथ गिरफ्तार, सीमांकन कराने के एवज में मांगी थी रकम

रीवा5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कार्रवाई करती लोकायुक्त की टीम - Dainik Bhaskar
कार्रवाई करती लोकायुक्त की टीम

रीवा लोकायुक्त पुलिस ने 4 हजार रुपए की रिश्वत लेते एक पटवारी को ट्रैप किया है। लोकायुक्त सूत्रों की मानें तो सीमांकन कराने के एवज में रकम मांगी थी। लेकिन बिना पैसे लिए काम करने को तैयार नहीं था। ऐसे में थक हारकर पीड़ित ने लोकायुक्त कार्यालय पहुंचकर एसपी से शिकायत की। एसपी द्वारा आवेदन का सत्यापन कराया तो शिकायत सही पाई गई।

ऐसे में 14 दिसंबर को नईगढ़ी तहसील कार्यालय के अंदर दबिश दी। यहां जैसे ही पीड़ित ने रिश्वत रुपए पटवारी को दिए। वैसे ही पटवारी को रंगे हाथ दबोच लिया गया है। स्वतंत्र रूप से कार्रवाई के लिए लोकायुक्त टीम पटवारी को लेकर विश्राम गृह पहुंची है। जहां पटवारी के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर कार्रवाई जारी रखी है।

आरोपी पटवारी ललित प्रसाद शर्मा
आरोपी पटवारी ललित प्रसाद शर्मा

रामपुर पटवारी हल्का में पदस्थ था
लोकायुक्त एसपी गोपाल सिंह धाकड़ ने बताया कि मंगलवार दोपहर 12 बजे ललित प्रसाद शर्मा पुत्र संतोष कुमार निवासी बहेरा गांव थाना मनगवां ट्रेप किया है। वह वर्तमान समय में पटवारी हल्का रामपुर तहसील नईगढ़ी में पदस्थ था। यहां पटवारी ललित प्रसाद शर्मा ने शिकायतकर्ता राम कैलाश साकेत से जमीन के सीमांकन के एवज में 4 हजार रुपए की डिमांड की थी।

तहसील के पटवारी कक्ष में दी रकम
इसी बीच पीड़ित ने लोकायुक्त में शिकायत कर दी। वाइस रिकार्डिंग में आरोपी पटवारी ने रकम लेने के लिए तहसील कार्यालय बुलाया था। पहले से तय स्थान के अनुसार पटवारी के कक्ष में 4 हजार रुपए देकर पीड़ित लौट आया। तभी निरीक्षक जियाउल हक ने सहयोगी डीएसपी प्रवीण सिंह परिहार और निरीक्षक प्रमेंद्र कुमार के साथ दबिश देकर गिरफ्तार कर लिया।

पहले दिन प्राचार्य तो दूसरे दिन पटवारी पकड़ाया
बता दें कि लोकायुक्त रीवा की दिसंबर माह की यह तीसरी कार्रवाई है। इसके पूर्व 9 दिसंबर को चोरहटा थाने के आरक्षक अनुरोध तिवारी को 20 हजार रुपए की रिश्वत लेते पकड़ा गया था। इसी दिन रात में एसपी नवनीत भसीन द्वारा आरक्षक को निलंबित कर दिया गया था। वहीं दूसरी कार्रवाई 13 दिसंबर को राजभान सिंह स्मारक महाविद्यालय मनिकवार के प्राचार्य डॉ. अशोक कुमार पीढिया को 5 हजार की रिश्वत के साथ गिरफ्तार किया है।

खबरें और भी हैं...