• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Rewa
  • Rewa Army Main Conspiracy Of Its Own Kidnapping, Thug Of Rs 1 Crore In Police Investigation

अपने ही बुने जाल में फंसा सेना का जवान:रीवा के फौजी ने रची खुद के अपहरण की साजिश, साइबर सेल की जांच में निकला नटवरलाल, लोगों के करोड़ों रुपए ठगे

रीवाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • लौर थाना अंतर्गत घोरहा गांव का रहने वाला है जवान, मुंबई की लड़की के साथ होटल में पकड़ाया

रीवा जिले के लौर थाना अंतर्गत घोरहा गांव का रहने वाला सेना का जवान ठग निकला है। उसने अपहरण की साजिश रचकर खुद के बुने जाल में फंस गया। पुलिस के मुताबिक दो दिन पहले आरोपी फौजी ने पिता के मोबाइल पर फोन किया। तब अपहरणकर्ता ने कहा कि 20 लाख रुपए दो नहीं तो तुम्हारे बेटे को जान से मार दूंगा। फोन कटते ही परिजन हरकत में आ गए।

आनन-फानन में लौर पुलिस को सूचना दी गई। जानकारी के बाद थाना प्रभारी ने एसपी नवनीत भसीन को पूरे मामले से अवगत कराया। ऐसे में एसपी ने साइबर सेल के साथ पूरे जिले की पुलिस को अलर्ट कर दिया। कुछ ही देर बाद जिलेभर की पुलिस हरकत में आ गई। जब पुलिस आरोपी के पास पहुंची तो वह ठग निकला। पता चला कि जिन लोगों का पैसा आरोपी फौजी ने डकारा है। वे लोग पकड़कर रखे हुए थे।

ये है मामला
लौर थाना प्रभारी मनोज गौतम ने बताया कि पुष्पेन्द्र यादव (32) निवासी घोरहा थल सेना में पदस्थ है। जो 2015 में आर्मी को ज्वाइन किया था। बीते दो माह पहले ही वह छुट्टी लेकर गांव आया था। इस दौरान वह अक्सर रीवा आता-जाता रहता था।

वर्तमान समय में उसकी पत्नी व एक बेटा गांव में ही परिवार के साथ रहते है। जिसने 12 दिसंबर की दोपहर खुद के अपहरण की साजिश रची थी। लेकिन वह असल में बड़ा ठग है। उसने कई लोगों के पैसे हजम कर दिए है। बताते हैं कि उसने धोखाधड़ी का खेल दो साल पहले ही शुरू कर दिया था।

20 लाख मांगी फिरौती
पिता ने पुलिस को बताया था कि कोष्टा से कुछ लोग बेटे का अपहरण कर ले गए हैं। उसकी प्रेमिका को भी साथ ले गए हैं। फिरौती के रूप में 20 लाख रूपये मांगने की जानकारी दी है। पुलिस यह सूचना पाते ही हरकत में आ गई। इधर साइबर सेल भी एक्टिव हुआ। लेकिन बाद में पता चला कि ऐसा कुछ भी नहीं हुआ है। ठगी के शिकार हुए लोगों से बचने के लिए अपहरण की झूठी कहानी रची थी। लेकिन एक गलती उसको भारी पड़ गई।

क्रिप्टो करेंसी स्कीम में सुबह पैसे लगाओ, शाम को डबल
वरिष्ठ अधिकारियों की जांच में जो बात सामने आई है। उसके अनुसार आरोपी सेना का जवान बीटीसी कंपनी के नाम पर लोगों को झांसा दे रहा था। कहता था कि क्रिप्टो करेंसी स्कीम में सुबह पैसे लगाओ, शाम को डबल हो जाएगा। हालांकि शुरुआत में उसने कई लोगों के पैसे डबल भी कर चुके है। उसके खिलाफ जिले के सिटी कोतवाली, समान और लौर थाने में 420 के कई अपराध दर्ज है। बहुत पहले ही पुलिस आरोपी को तलाश रही थी।

मुंबई की प्रेमिका को भेजा वन स्टाप सेंटर
पुलिस के मुताबिक सेना का जवान इन दिनों रायल लाइफ जी रहा था। उसने पहले मुंबई की एक लड़की के पैसे डकारे। ​फिर कुछ दिन बाद अपने नेटवर्क में शामिल कर लिया। वर्तमान समय में वह लड़की प्रेमिका के रूप में आरोपी फौजी के साथ रीवा में रहती थी। कुछ दिन पहले रायपुर कर्चुलियान थाना क्षेत्र के कोष्ठा गांव स्थित होटल में रूकी थी। जबकि सेना का जवान फॉर्चूनर गाड़ी में चल रहा था। लेकिन ठगी का पर्दाफास होने के बाद महिला थाना प्रभारी की मदद से प्रेमिका को वन स्टाप सेंटर में रखवाया गया है। फिलहाल आरोपी से पुलिस पूछताछ करते हुए नेटवर्क को खोज रही है।

खबरें और भी हैं...