उपार्जन केंद्र में पहुंचकर जांची व्यवस्थाएं:रीवा संभागायुक्त-कलेक्टर ने किया गेहूं खरीदी केन्द्रों का निरीक्षण, स्व सहायता समूह का संचालन कर रही महिलाओं से हुए रूबरू

रीवा5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

रीवा जिले के सेमरिया तहसील अंतर्गत हिनौता और हरदुआ उपार्जन केंद्रों का संभागायुक्त अनिल सुचारी और कलेक्टर मनोज पुष्प ने औचक निरीक्षण किया। यहां गेंहू खरीदी केन्द्रों का संचालन कर रही महिला स्व सहायता समूह की संचालकों से रूबरू हुए। साथ ही खरीदी के संबंध में जानकारी ली।

बता दें कि शिव शक्ति स्वसहायता समूह द्वारा संचालित हिनौता खरीदी केन्द्र और खुशी स्वसहायता समूह द्वारा संचालित हरदुआ खरीदी केन्द्र का जायजा लिया। निरीक्षण के दौरान संभागायुक्त ने खरीदे गए गेंहू की क्वालिटी, उसके रखरखाव आदि के बारे में विस्तृत जानकारी महिलाओं से ली।

संभागायुक्त ने स्वसहायता समूह की महिलाओं से संवाद स्थापित करते हुए खरीदी केन्द्र में आने वाले गेंहू की गुणवत्ता के लिए छन्ना लगाने और नमी चेक करने के विषय में पूछताछ की। उन्होंने समूह की सदस्यों से खरीदी में आने वाली दिक्कतों के विषय में भी जानकारी ली।

खुशी स्वसहायता समूह की महिलाओं ने बताया कि वह चौथी बार खरीदी केन्द्र का संचालन कर रही हैं। पूर्व में खरीदी उपज की मजदूरी तो प्राप्त हो गई है। मगर अभी तक बोनस नहीं मिला। तब कलेक्टर ने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिये कि शीघ्र बोनस दिलाये जाने की कार्यवाही करें।

महिला स्वसहायता समूह की महिलाओं ने जानकारी दी कि वह सभी आपस में मिलाकर व्यवस्थित ढंग से खरीदी कर रही हैं। किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं आई। उन्होंने खरीदे गए गेंहू की गुणवत्ता उसकी पैकिंग, सिलाई व ढुलाई के विषय में विस्तार से जानकारी दी।

संभागायुक्त अनिल सुचारी ने कहा कि महिला सदस्यों द्वारा बेहतरीन ढंग से व्यवस्थित खरीदी की जा रही है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री की भी मंशा है कि महिलाएं आत्मनिर्भर बनें। उनके द्वारा किये जा रहे कार्यों से अन्य महिलाएँ भी प्रेरित हों, ताकि महिलाओं की आर्थिक स्थिति में सुधार हो।

खबरें और भी हैं...