अतिक्रमण की बीमारी का 'इलाज' कब?:रीवा मेडिकल कॉलेज के डीन के परिवार ने नाले पर बना दी नर्सिंग होम बिल्डिंग, 5 साल पुरानी शिकायत कागजों में हुई दफन

रीवा5 महीने पहले
नाले पर खड़ी नर्सिंग होम की बिल्डिंग का अगला और पिछला हिस्सा।
  • शहर के एसएएफ चौराहे से रानी तालाब की ओर जाने वाले भैरव मार्ग पर खड़ी बिल्डिंग का मामला, निगमायुक्त मृणाल मीणा ने तलब की जानकारी

रीवा शहर में नियम विरुद्ध तरीके से एक नाले के ऊपर खड़ी नर्सिंग होम की बिल्डिंग का मामला सामने आया है। दावा है कि उक्त बिल्डिंग रीवा श्याम शाह मेडि​कल कॉलेज के डीन डॉ. मनोज इंदुलकर की पत्नी के नाम पर है। जो 5 वर्ष से तैयार खड़ी है, फिर भी नगर निगम के​ जिम्मेदारों को नहीं दिखी है।

लोगों का कहना है कि आखिर नगर​ निगम की जेसीबी गरीबों के झोपड़ो पर ही क्यों चलती है। बड़े अधिकारी निगम को क्यों नहीं दिखाई देते है। इसका सबसे बड़ा उदाहरण डीन की बिल्डिंग है।

आलीशान इमारत के नीचे बह रहा नाला
बता दें कि एसएएफ चौराहे से रानी तालाब की ओर जाने वाले भैरव मार्ग पर ​नर्सिंग होम के लिए आलीशान इमारत बन कर खड़ी है। जिसके नीचे से सार्वजनिक नाला बह रहा है। हर आने जाने वाला आदमी इस द्रश्य को देखकर हैरान है कि आखिर नगर निगम इतनी बड़ी लापरवाही के बाद भी चुप्पी क्यों साधे हुए। जबकि अक्सर जिला प्रशासन से लेकर नगर निगम के बड़े अधिकारियों का आना जाना लगा रहता है। फिर इस बिल्डिंग की तरफ किसी की नजर नहीं गई है।

निगम की कार्य शैली पर उठ रहे सवाल
मोहल्ले के रामलखन सेन ने बताया कि ये बिल्डिंग करीब पांच साल पहले बन गई थी। फिर भी ऐसे निर्माण पर कार्रवाई न करना कई सवाल खड़े करते है। आसपास के लोगों ने बताया कि मोहल्ले का एक युवा पांच साल से​शिकायत कर रहा है। फिर भी किसी ने इस ओर मुड़कर नहीं देखा है। शिकायतकर्ता लगातार कागजी कार्रवाई में लगा है।

निगमायुक्त ने तलब की जानकारी, जल्द हो सकता है बड़ा एक्शन!
एसएस मेडिकल कॉलेज के डीन डॉ. मनोज इंदुलकर की पत्नी के नाम पर बनी अवैध बिल्डिंग के बारे में जब दैनिक भास्कर रिपोर्टर ने बात की तो निगमायुक्त मृणाल मीणा ने कहा कि पूरी जानकारी तलब कर ली गई है। कयास लगाए जा रहे है कि जल्द बड़ा एक्शन हो सकता है।

खबरें और भी हैं...