MP CM हेल्पलाइन:शिकायतों के मामले में रीवा मध्य प्रदेश में अव्वल, सतना भी टॉप फाइव जिलों में शामिल, 8 वर्ष की टोटल शिकायतों के मामले में इंदौर नंबर वन

रीवाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
CM हेल्पलाइन में वर्ष 2021 के 14 सितंबर तक आंकड़े - Dainik Bhaskar
CM हेल्पलाइन में वर्ष 2021 के 14 सितंबर तक आंकड़े
  • 8 साल में 6 साल रीवा रहा नंबर वन, सीएम हेल्पलाइन के आंकड़े खोल रहे हकीकत

मध्य प्रदेश का रीवा जिला CM हेल्पलाइन के शिकायतों के मामले में वर्ष 2021 में नंबर वन है। हालांकि इसके पहले भी वर्ष 2014, 2015, 2016, 2017, 2019 में नंबर वन रह चुका है। जबकि 2018 और 2020 में इंदौर नंबर वन तो रीवा दूसरे नंबर पर रहा है। वहीं ओवर हाल 8 वर्ष के अंदर टोटल शिकायतों की बात करें तो इंदौर नंबर वन है।

बता दें कि वर्ष 2014 लेकर आज तक कुल शिकायतों में इंदौर सबसे आगे है। यहां 1027672 शिकायते दर्ज हुई है। वहीं 806484 शिकायतों के साथ रीवा दूसरे नंबर पर कायम है। जबकि 598872 शिकायों के आधार पर सतना पांचवें स्थान पर है। तीसर नंबर पर ग्वालियर व चौथे नंबर पर भोपाल है। जहां क्रमश: 611137 व 601301 शिकायतें दर्ज हुई है।

फाइल फोटो
फाइल फोटो

जनसंख्या में पीछे, शिकायत में आगे
जानकारों की मानें तो जहां ज्यादा लोग होते है वहां शिकायतें की संख्या होना लाजमी है। अगर इस नजर से देखा जाए तो इंदौर का पहले नंबर पर होना उचित है। लेकिन ​रीवा का दूसरे नंबर पर होना व्यवहारिक नहीं लगता है। बता दें कि वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार इंदौर जिले की आबादी 32,76,697 है। जहां 8 साल में 10 लाख से ज्यादा शिकायतें दर्ज हुई है। जबकि जबलपुर की जनसंख्या 24,63,289 है और सीएम हेल्पलाइन में मात्र 4.17 लाख प्रकरण दर्ज है। जबकि रीवा और सतना की आबादी क्रमश: 23,65,106 और 22,28,935 है। वहीं प्रकरण 8 लाख व 5.97 लाख है।

वर्ष 2021 में आई शिकायतें
- रीवा - 122259
- ग्वालियर - 108582
- इंदौर - 99144
- भोपाल - 96539
- सतना - 91272

खबरें और भी हैं...