पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

रीवा में कियोस्क संचालक को बनाया निशाना:चलती बाइक पर डंडे से हमला करके 3 लाख की लूट, गंभीर अवस्था में संजय गांधी अस्पताल में कराया गया दाखिल

रीवाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
घटनास्थल को जांचते एएसपी विजय डाबर। - Dainik Bhaskar
घटनास्थल को जांचते एएसपी विजय डाबर।
  • लालगांव चौकी क्षेत्र के ​हर्दी गांव में वारदात, एएसपी पहुंच मौके पर

रीवा में बाइक से जा रहे कियोस्क संचालक पर डंडे से बदमाशों ने हमला कर दिया। संचालक के गिरते ही बदमाशों से डंडे मारकर अधमरा कर दिया। इसके बाद 3 लाख रुपए भरा बैग लेकर फरार हो गए। ग्रामीणों की सूचना के बाद पहुंची पुलिस ने सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र गंगेव में भर्ती कराया।

यहां गंभीर स्थित को देखते हुए मंगलवार की रात एसजीएमएच में भर्ती कराया गया था। लूट की वारदात की जानकारी के बाद मऊगंज एएसपी विजय डाबर ने पहुंचकर घटनास्थल का निरीक्षण किया है। ये मामला लालगांव चौकी क्षेत्र के ​हर्दी गांव का है।

लालगांव चौकी फाइल फोटो।
लालगांव चौकी फाइल फोटो।

एएसपी विजय डाबर ने बताया कि संदीप चतुर्वेदी पुत्र प्रेमलाल चतुर्वेदी (32) निवासी मउहरिया का लालगांव में कियोस्क सेंटर चलता है। संदीप मंगलवार की सुबह करीब 11 बजे के आसपास बाइक में सवार होकर सेंटर खोलने जा रहा था। उसके पास 3 लाख रुपयों से भरा एक बैग भी लिया था। हर्दी गांव पहुंचते ही पीछे से दो बाइक सवार बदमाश पहुंचे। जिन्होंने चलती बाइक पर संदीप चतुर्वेदी पर डंडे से वार किए, तो संदीप गिर गया। इसके बाद आरोपियों ने बेदम पिटाई की। जैसे ही संदीप लहुलुहान हो गया तो पैसे से भरा बैग लेकर बदमाश भाग गए।

कुछ ही मिनटों में वारदात
चौकी प्रभारी यूबी सिंह ने कहा कि शातिर बदमाश कुछ ही मिनटों के अंदर पूरी वारदात को अंजाम देकर भाग गए। राहगीरों की सूचना पर लालगांव पुलिस मौके पर पहुंची थी। जहां घटनास्थल पर पड़े घायल युवक को उपचार के लिए गंगेव अस्पताल लाया गया। जिसको मंगलवार की रात संजय गांधी ​स्मृति हास्पिटल रेफर कर दिया गया। जिसकी स्थित चिंता जनक बनी हुई है। लूट के मामले में गढ़ थाने के लालगांव चौकी पुलिस ने अज्ञात आरोपियों खिलाफ आईपीसी की धारा 307 के तहत एफआईआर दर्जकर ली है।

एएसपी पहुंचे घटनास्थल
वारदात की जानकारी मिलते ही मऊगंज एएसपी विजय डाबर मौके पर पहुंचे। उन्होंने पूरे घटनाक्रम की जानकारी आसपास के लोगों से ली। साथ ही नजदीकी थानों को बदमाशों के हुलिया के बारे में बताकर निगरानी रखने के निर्देश दिए है। सूत्रों की मानें तो तराई से लगे गांवों में इन दिनों बदमाशों का​ गिरोह सक्रिय है। फिर भी आरोपी पुलिस की नजर से बचकर फरार हो जाते है।

खबरें और भी हैं...