• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Rewa
  • Robbery Worth Crores Of Rupees In A Shop Adjacent To The House Of A Bullion Trader In Sidhi

सीधी में सराफा व्यापारी के घर डकैती का CCTV:युवक को बंधक बनाकर नकाबपोश 6-7 बदमाश पीटते रहे; जब लगा कि मर गया तब सोने-चांदी के जेवर-नकदी समेट कर भाग निकले

सीधी7 महीने पहले

सीधी जिले के मझौली कस्बे में बदमाशों ने इलाके के सराफा व्यापारी यहां बड़ी डकैती डाली है। करीब सात नकाबपोश बदमाश निर्माणाधीन घर के पीछे से दाखिल हुए थे। पहले व्यापारी को बंधक बनाकर जमकर पीटा। जब बदमाशों को लगा कि व्यापारी मर गया है, तब दुकान के अंदर रखे सोना-चांदी के जेवरात अपनी टी शर्ट के अंदर और झोले में भरकर ले गए। परिवार वालों के मुताबिक बदमाश करोड़ों रुपए के जेवर ले गए हैं। नकाबपोश बदमाशों की करतूत CCTV कैमरे में कैद हो गई है। इसमें 6 से 7 लोग सोना चांदी का समान देख-देखकर भर रहे हैं।

घटना के समय परिवार मकान के दूसरे हिस्से में सो रहा था। बदमाशों के जाने के बाद व्यापारी ने परिवार वालों को इसकी जानकारी दी है। देर रात सूचना के बाद पहुंची पुलिस ने घायल को सीधी अस्पताल भेजा। यहां पर व्यापारी की हालत गंभीर होने पर जबलपुर रेफर किया गया है। आधा दर्जन थानों का पुलिस बल बार्डर एरिया की नाकेबंदी कर दी गई है। पुलिस टीम छत्तीसगढ़ की सीमा सहित जंगली क्षेत्र में सर्चिंग कर रही है।

सीधी के मझौली वार्ड नम्बर 14 में गीता ज्वेलर्स नाम से व्यापारी की दुकान है।
सीधी के मझौली वार्ड नम्बर 14 में गीता ज्वेलर्स नाम से व्यापारी की दुकान है।

गीता ज्वेलर्स के नाम से संचालित थी दुकान
मझौली पुलिस का कहना है कि हार्दिक उर्फ सूरज सोनी की मझौली वार्ड नम्बर 14 में गीता ज्वेलर्स के नाम से दुकान है। दुकान के ठीक पीछे मकान बन रहा था। यहां से आधा दर्जन बदमाश दाखिल हुए थे। जैसे ही शातिर बदमाश दुकान पर पहुंचे तो सो रहे व्यापारी की नींद ​खुल गई, उसने विरोध किया तो धारदार हथियार से बदमाशों ने सिर पर कई वार किए। बदमाश व्यापारी को तब तक मारते रहे जब तक व्यापारी अधमरा नहीं हो गया। जब चोरों को लगा कि व्यापारी मर चुका है तो वे बारी-बारी से दुकान के काउंटर के अंदर रखे जेवर और नकदी लेकर चलते बने।

घायल व्यापारी और उसकी मां।
घायल व्यापारी और उसकी मां।

सुबह 4 बजे घायल व्यापारी पहुंचा जिला अस्पताल
गंभीर रूप से घायल व्यापारी को शनिवार तड़के 4 बजे पुलिस जिला अस्पताल लेकर पहुंची थी। यहां उनकी स्थिति काफी नाजुक थी। यहां से उसे जबलपुर रेफर कर दिया गया। अब पुलिस ​अधिकारियों का मानना है कि यदि व्यापारी 4 बजे सीधी अस्पताल पहुंचा है तो लूट की वारदात रात 2 से 3 के बीच हो सकती है, क्योंकि सीधी शहर से मझौली की दूरी भी 50 से 60 किलोमीटर दूर है। मझौली से अस्पताल पहुंचने में एक घंटे से ज्यादा समय लगता है।

खबरें और भी हैं...