कम बजट में अच्छा कार्य:रीवा में SAF जवानों ने श्रमदान कर बनाया भव्य शहीद स्मारक, एडीजीपी ने किया लोकार्पण, PHQ से आवंटित हुए थे सिर्फ 4.80 लाख रुपए

रीवा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
लोकार्पण करते एडीजीपी केपी वेंकाटेश्वर राव - Dainik Bhaskar
लोकार्पण करते एडीजीपी केपी वेंकाटेश्वर राव
  • 9वीं वाहिनी विशेष सशस्त्र बल के जवानों की चौतरफा हो रही तारीफ

रीवा शहर के एसएएफ ग्राउंड में 9वीं वाहिनी विशेष सशस्त्र बल के जवानों ने श्रमदान कर भव्य शहीद स्मारक बना दिया है, जिसका लोकार्पण मंगलवार की दोपहर एडीजीपी केपी वेंकाटेश्वर राव ने किया। कम बजट में अच्छे कार्य को लेकर एडीजीपी ने 9वीं वाहिनी के एसएएफ जवानों की तारीफ की।

कहा, शहीद स्मारक को देखने के बाद लगता है कि जवानों ने सच में अच्छी लगन और मेहनत कर असंभव कार्य को संभव कर दिया है। हम सबको सैनिकों की मेहनत से सीख लेना चाहिए। क्योंकि मेहनत के द्वारा किया गया कोई भी कार्य असंभव नहीं हो सकता है।

बता दें कि पुलिस मुख्यालय भोपाल से रीवा में अमर जवान शहीद स्मारक निर्माण के लिए 4.80 लाख रुपए आवंटित किए गए थे। ऐसे में जवानों ने एक रूपता दिखाते हुए खुद श्रमदान कर छोटी सी राशि में बड़ा कार्य कर दिया है। साथ ही भव्य स्मारक तैयार कर अन्य जवानों के बीच मिसाल पेश की है। लोकार्पण के अवसर पर डीआईजी अनिल सिंह कुशवाह, एसपी नवनीत भसीन, सेनानी आरएस मीणा, उप सेनानी उदित मिश्रा सहित 9वीं वाहिनी विसबल के अन्य अधिकारी व कर्मचारी मौजूद रहे।

एसएएफ जवानों ने दी सलामी
अतिथियों द्वारा शहीद स्मारक के लोकार्पण समारोह के बाद एसएएफ के जवानों ने परेड की। जहां एडीजीपी केपी वेंकाटेश्वर राव ने परेड को निरीक्षण करने के बाद सलामी ली। साथ ही देश के लिए शहीद हुए जवानों की शहादत को याद करने हुए श्रद्धांजलि दी। एसएएफ सूत्रों की मानें तो आने वाले 21 अक्टूबर को पुलिस स्मृति दिवस पर वृहद कार्यक्रम होगा।

खबरें और भी हैं...