रीवा में अमानवीयता की कहानी, पीड़ित की जुबानी:बोला- पहली बार पिटाई के एक घंटे बाद बाइक पर बैठाकर आरोपियों तक ले जाया गया, पेड़ से उल्टा लटका कर मारे डंडे

रीवा3 महीने पहले
पीड़ित अरशद कमाल।

मध्यप्रदेश का रीवा जिला बीते दिनों क्रूरता और बर्बरता पूर्वक युवक के साथ हुई मारपीट के मामले का वीडियो वायरल होने के बाद चर्चा में है। इसके बाद दैनिक भास्कर टीम ग्राउंड जीरो पर जाकर पीड़ित अरशद कमाल उर्फ मलिंगा उर्फ अफजल (28) के सतना जिले के मुकुंदपुर स्थित घर पहुंची।

अरशद ने बताया कि वह रोजाना बस से घर चला जाता था, लेकिन 27 अगस्त की शाम बस ​छूट गई। इसके बाद ट्रांसपोर्ट नगर स्थित होटल में खाना खाकर एक बस में रात काटी। 28 अगस्त की सुबह उठकर चचेरे भाई के साथ चाय नाश्ता कर पेंटिग करने लगा। सुबह 10 बजे उसके पास नीलकंठ पहुंचा। उसने बैटरी चोरी का आरोप लगाया। फिर जबरदस्ती बाइक पर बैठाकर मयंक होटल के पास ले गया।

यहां कुलदीप सिंह ने बेल्ट से मारा। वहीं, दानिश खान मेरी छाती पर चढ़ गया, जबकि अनुज सिंह ने गुप्तांग में लात मारी। नीलकंठ भी सहयोग करता रहा। इसी बीच, किसी ने वीडियो भी बनाया। रात में आरोपियों ने वीडियो सोशल मीडिया पर अपलोड कर दिया।

सतना जिले के मुकुंदपुर गांव में अरशद कमाल का कच्चा घर बना है।
सतना जिले के मुकुंदपुर गांव में अरशद कमाल का कच्चा घर बना है।

दोबारा उल्टा लटकाकर तलवों में मारे थे डंडे
ट्रांसपोर्ट नगर में मलिंगा नाम से मशहूर पेंटर अरशद कमाल ने बताया कि दूसरी घटना और खतरनाक थी। एक घंटे बाद दोबारा नीलकंठ आया। बाइक से फिर बैठा कर ले गया। आरोपियों ने एक पेड़ से उल्टा लटका दिया। फिर पीठ और तलवे में जमकर डंडे मारे। आखिर में चचेरे भाई सलमान खान को फोन कर बुलाया। उससे कहा कि इसे घर छोड़कर आओ।

पिता ने दिखाई जागरूकता
गांव वालों ने बताय कि अरशद के पिता भी रीवा में रहकर गुजर बसर करते हैं। उन्हें 28 अगस्त की रात 11 बजे मामले के बारे में पता चला। उन्होंने रात 12 बजे थाने पहुंचकर शिकायत कर दी। सुबह पीड़ित को पुलिस ने एमएलसी के लिए बुलाया। पुलिस अपनी प्रक्रिया कर रही थी। 29 अगस्त की सुबह वीडियो वायरल होने के बाद बवाल मच गया।

29 अगस्त की सुबह सामने आया क्रूरता का वीडियो
रीवा में क्रूरता से पिटाई का वीडियो सोशल मीडिया में वायरल होने के बाद रीवा पुलिस के दावों की पोल खोलकर रख दी। प्रदेशभर में मचे बवाल के बाद आईजी से लेकर एसपी तक सक्रिय हुए। इसके बाद 29 अगस्त की सुबह 11 बजे सिविल लाइन थाना प्रभारी निरीक्षक ओंकार तिवारी ने कुलदीप सिंह, दानिश खान, अनुज सिंह और नीलकंठ के खिलाफ आईपीसी की धारा 307, 342 और 34 का केस दर्ज कर दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया। एसपी राकेश सिंह ने एनएसए प्रस्तावित करने का दावा किया था।

नीमच के बाद रीवा में अमानवीयता: बैटरी चोरी के शक में बेरहमी से पीटा, युवक बचाने की गुहार लगाता रहा; भीड़ देखती रही, बचाने कोई नहीं आया

खबरें और भी हैं...