• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Rewa
  • The Constable Of Khatkhari Outpost Of Rewa District Committed Suicide By Hanging, Was Posted From The City To The Countryside Police Station Two Months Ago

आरक्षक ने किया सुसाइड:रीवा जिले की खटखरी चौकी के कॉन्स्टेबल ने फांसी लगाकर की आत्महत्या, दो महीने पहले शहर से देहात थाने में हुई थी पदस्थापना

रीवाएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
इनसेट में जीवित अवस्था में आरक्षक और घटनास्थल के बाहर खड़ी पुलिस। - Dainik Bhaskar
इनसेट में जीवित अवस्था में आरक्षक और घटनास्थल के बाहर खड़ी पुलिस।
  • शाहपुर थाना अंतर्गत खटखरी कस्बा का मामला, परिजनों के इंतजार में फंदे से नहीं उतारा गया शव

रीवा जिले की खटकरी चौकी में पदस्थ एक कॉन्स्टेबल ने अज्ञात कारणों से फांसी का फंदा लगाकर सुसाइड कर लिया है। पुलिस सूत्रों की मानें तो दो महीने पहले आरक्षक को शहर के चोरहटा थाने से देहात के शाहपुर थाने भेजा गया था। फिर कुछ दिन बाद आरक्षक की पदस्थापना खटखरी चौकी में कर दी गई थी। वह रोजाना ड्यूटी करता था, लेकिन बुधवार को जब वह चौकी पर नहीं पहुंचा तो खोजबीन की गई।

कुछ पुलिसकर्मी थाने के पास स्थित कमरे में पहुंचे तो वह फांसी के फंदे से लटक रहा था। तुरंत मामले की सूचना चौकी प्रभारी सहित थाना प्रभारी को दी गई। कुछ देर बाद वरिष्ठ अधिकारियों तक बात पहुंची तो सबके होश उड़ गए। आनन फानन में घटनास्थल पर एएसपी, एसडीओपी सहित थाना प्रभारी मौके पर पहुंच चुके है। पुलिस के अधिकारियों ने मृतक आरक्षक के परिजनों व फॉरेंसिक टीम को मौके पर बुलाया है।

एएसपी मऊगंज विजय डाबर ने बताया कि खटखरी चौकी में पदस्थ आरक्षक वरुण तिवारी मूलत: सतना जिले का रहने वाला है। वह अज्ञात कारणों से अपने आवास पर बुधवार की दोपहर करीब 3.30 बजे फांसी लगाकर सुसाइड कर लिया है। घटनास्थल को बाहर से देखने पर आत्महत्या समझ में आ रही है। ऐसे में परिजनों को सूचना भेजवा दी गई। साथ ही फॉरेंसिक टीम को मौके पर बुलाया है। जब तक परिजन घटनास्थल पर नहीं पहुंच जाते तब तक मृत आरक्षक का शव फंदे से नहीं उतारा जाएगा।

आरक्षक ने अंदर से बंद कर रखा है दरवाजा
एफएसएल के वरिष्ठ वैज्ञानिक अधिकारी डॉ. आरपी शुक्ला ने बताया है कि आरक्षक ने सुसाइड से पहले कमरे को अंदर से बंद कर रखा है। ऐसे में कमरे का मुख्य गेट का दरवाजा बंद है। ​पुलिस अधिकारी खिड़की से आरक्षक को फंदे से लटकते हुए देख रहे है। अब पुलिस को परिजनों का इंतजार है। जैसे ही वे लोग पहुंच जाएंगे। कमरा का दरवाजा तोड़ आगे की प्रक्रिया की जाएगी।