रीवा के गांव में चोरी:दीवार में छेद कर मकान में घुसे, बाहर से दरवाजा बंद कर 3 पेटियां निकाल ले गए; 3 तोला सोना और 2kg चांदी पार की

रीवा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बिखरा पड़ा सामान। - Dainik Bhaskar
बिखरा पड़ा सामान।

रीवा जिले के मनिकवार चौकी अंतर्गत सिरसा गांव में 2 लाख रुपए की चोरी का मामला सामने आया है। पुलिस के मुताबिक साहू परिवार सोमवार रात सो रहा था, तभी कुछ चोर सेंधमारी कर घर के अंदर दाखिल हुए। बाहर से दरवाजे की कुंडी बंद कर तीन पेटी निकाल ले गए।

बाहर पेटियों का ताला तोड़कर 3 तोला सोना व 2 किलो चांदी के जेवर लेकर फरार हो गए। सुबह परिवार के लोगों की नींद खुली तो वे घर के अंदर कैद थे। ऐसे में शोर मचाकर गांववालों को बुलाया। बाहर आए तो दीवार में सेंध थी। साथ ही घर से कुछ दूर पेटियां पड़ी थी।

इसी जगह से दाखिल हुए चोर
इसी जगह से दाखिल हुए चोर

एएसपी ने लिया चोरी को संज्ञान
पीड़ित राजेश साहू का दावा है कि सोमवार-मंगलवार की रात अज्ञात चोरों ने सेंध लगाकर लाखों रुपए के सोने-चांदी के जेवर ले लए। लेकिन मंगलवार की सुबह 8 बजे मनगवां थाना और मनिकवार चौकी को सूचना दी तो किसी ने फरियाद नहीं सुनी। अंतत: एएसपी शिवकुमार वर्मा को पूरे मामले से अवगत कराया तो उन्होंने संज्ञान लेकर चौकी पुलिस को मौके पर भेजा।

अब चोरी गए समान का कहां से लाएं बिल
फरियादी का आरोप है कि चोरी गए समान का बिल कहां से लाया जाए। क्यों​कि चौकी प्रभारी मनीषा उपाध्याय रिपोर्ट दर्ज करने से पहले ज्वेलरी का बिल मांग रही है। चर्चा है कि पुलिस बिल मांग कर चोरी की राशि कम दर्ज करना चाहती है। जबकि पैतृक सोने चांदी के बिल पेश करना किसी चुनौती से कम नहीं है। हालांकि इस मामले को बड़े अधिकारियों ने संज्ञान लिया है।

डॉग स्वायड टीम पहुंची घटनास्थल
बता दें कि चोरी की घटना का एसपी नवनीत भसीन ने गंभीरता से लिया है। जिससे सिरसा गांव डॉग स्क्वायड की टीम मौके पर पहुंची है। साथ ही मनगवां थाना प्रभारी को निर्देशित किया है कि चोरी की वारदात करने वाले बदमाशों के खिलाफ सख्त एक्शन होना चाहिए। सूत्रों की मानें तो 2 दिन पहले भी मनिकवार चौकी के उलही गांव में एक साथ आधा दर्जन घरों में चोरी हुई थी।

हर दिन हो रही चोरी
रीवा के देहात क्षेत्रों में इन दिनों चोरी की वारदातें बढ़ गई है। यहां हर दिन अज्ञात बदमाश किसी न किसी गांव को जरूर निशाना बनाते है। कई मामलों की शिकायत तो थाने तक पहुंचती है। वहीं कई बार पुलिस अमला चोरी गए समान की लिस्ट मांगता है। ऐसे में ग्रामीण थाने से दूरी बना लेते है। वहीं गांव-गावं में बढ़ रही नशा खोरी भी चोरी के लिए जिम्मेदार है।

खबरें और भी हैं...