यातायात व्यवस्था बिगाड़ने पर कार्रवाई:रीवा शहर में ट्रैफिक पुलिस को धमकाना पड़ा महंगा, ​आरोपी युवक के खिलाफ मामला दर्ज

रीवाएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • सिविल लाइन थाना अंतर्गत शिल्पी प्लाजा का मामला

रीवा शहर में ट्रैफिक पुलिस को धमकाना एक युवक को महंगा पड़ गया है। बताया गया कि दिवाली पर्व को लेकर एसपी नवनीत भसीन के निर्देशानुसार नो पॉर्किंग जोन में दो पहिया व चार पहिया वाहन खड़े करने पर मनाही थी। फिर भी सिविल लाइन थाना अंतर्गत शिल्पी प्लाजा में युवक यातायात व्यवस्था बिगाड़ने पर तुला था।

जब यातायात पुलिसकर्मी ने दखलंदाजी की तो गाली गलौज करते हुए धमकाकर चला गया। बुधवार को जब इस मामले की भनक एसपी को लगी तो वे सिविल लाइन थाना प्रभारी को एफआईआर के आदेश दिए। ऐसे में आरोपी के खिलाफ कार्रवाई करते हुए आईपीसी की धारा 294, 353, 506 के तहत प्रकरण पंजीबद्ध कर लिया गया है।

सूत्रों की मानें तो फरियादी यातायात पुलिसकर्मी नरेन्द्र पाण्डेय की ड्यूटी मंगलवार को शिल्पी प्लाजा के समीप लगाई गई थी। वे शाम से लेकर रात तक यातायात व्यवस्था देखते रहे। इसी बीच देर रात शिल्पी प्लाजा के सामने सड़क में ही आरोपी ने अपनी चार पहिया सफारी खड़ी कर दी। कुछ देर बाद वाहन खड़ा होने के कारण यातायात व्यवस्था अवरूद्ध हो गई।

पुलिसकर्मी वाहन हटाने के लिए बोला तो भड़क गया
फरियादी पुलिसकर्मी ने बताया कि जब वह वाहन मलिक को सफारी हटाने के लिए कहा तो भड़क गया। कुछ देर बाद गाली-गलौज करने गला। साथ ही गाड़ी चढ़ाकर जान से मारने की धमकी दी। घटना के बाद आरोपी वाहन चालक के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर शिकायत की। ऐसे में थाना पुलिस ने आरोपी के खिलाफ प्रकरण पंजीबद्ध कर जांच शुरू कर दी है।

दो दिन से चल रही जाम की स्थिति
दीपावली को लेकर बुधवार को दिनभर गलियों और चौराहों में जाम की स्थिति बनी रही। वहीं धन तेरस के दिन भी जाम के हालात बने रहे। हालांकि चौराहों में यातायात पुलिसकर्मी व्यवस्था बनाने का प्रयास करते रहे। इस दौरान घोड़ा चौराहा, शिल्पी प्लाजा, सिरमौर चौराहा, अस्पताल चौराहा आदि स्थानों में पुलिस यातायात व्यवस्था को सुधारने के मुस्तैद दिखी।

खबरें और भी हैं...