11 हजार केवीए लाइट से हादसा:रीवा में करंट लगने से श्रमिक की मौत, छत के ऊपर कार्य करते समय हाईटेंशन लाइन की चपेट में आया, जमीन में गिरते ही तोड़ा दम

रीवा3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • विश्वविद्यालय थाना अंतर्गत कैलाशपुरी का मामला

रीवा शहर के विश्वविद्यालय थाना अंतर्गत कैलाशपुरी में छत में कार्य करते समय एक श्रमिक की मौत हो गई। पुलिस के मुताबिक निर्माणाधीन मकान में कार्य चल रहा था। साथ ही ऊपर से हाईटेंशन लाइन निकली थी। लेकिन कार्य के दौरान मरीज का ध्यान भटक गया। इसी बीच लोहे का सरिया 11 हजार केवीए लाइन में छू गया।

तभी करंट का झटका लगते ही श्रमिक छत से जमीन कर गिर गया। देखते ही देखते उसने दम तोड़ दिया। हादसे के बाद घटना की सूचना विश्वविद्यालय पुलिस को दी गई। जानकारी के बाद पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पीएम के लिए संजय गांधी अस्पताल भेजा। जहां परिजनों की मौजूदगी में पोस्ट मार्टम कर डेड बॉडी सौंप दी है।

विश्वविद्यालय थाना प्रभारी शिवपूजन सिंह बिसेन ने बताया कि बुधवार की सुबह करीब 10 बजे कैलाशपुरी स्थित निर्माणाधीन मकान में श्रमिक प्रमोद उर्फ छोटू कोल निवासी तिलखन थाना बैकुण्ठपुर मजदूरी में कार्य कर रहा था। छत का कार्य करते समय ऊपर से गुजरी हाईटेंशन लाइन की चपेट में आ गया।

साथी मजदूरों की मानें तो करंट का झटका लगते ही श्रमिक छत से नीचे गिर गया। ऐसे में अन्य मजदूरों की कुछ समय के लिए धड़कनें रूक गई। जब करंट से हादसे का अभाव हुआ तो मकान मालिक सहित पुलिस को सूचना दी।

जानकारी के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने अन्य श्रमिकों की मदद से घायल मजदूर को एसजीएमएच लाये। जहां ड्यूटी डॉक्टर तुरंत आकस्मिक चिकित्सा विभाग लेकर पहुंचे। लेकिन चिकित्सकों ने श्रमिक को प्राथमिक परीक्षण करने के बाद मृत घोषित कर दिया। मौत के बाद विश्वविद्यालय पुलिस ने मर्ग कायम करते पीएम कराते हुए शव परिजनों के सुपुर्द कर दिया है।

खबरें और भी हैं...