पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कर्ज से परेशान व्यापारी को सुसाइड करने से बचाया:सोशल मीडिया पर भेजा मैसेज- जुआ-सट्‌टे में 5 लाख का कर्ज हो गया है, अब आत्महत्या करने वाला हूं, दोस्त ने कुछ ही देर में पहुंचकर बचा लिया

रीवा11 दिन पहले

रीवा में दोस्त की मुस्तैदी से एक युवा व्यापारी की जान बच गई। युवक ने दोस्त को सोशल मीडिया पर आत्महत्या का मैसेज भेजा। दोस्त ने तुरंत पुलिस और उसके परिवार वालों को सूचना दे दी। खुद भी उसके घर पहुंच गया। कमरे का दरवाजा तोड़ कर देखा, तो युवक फंदे पर झूलने वाला था। मौके पर पहुंची पुलिस ने युवक की काउंसलिंग की। उसने सुसाइड नोट भी लिखा था। इसमें जुआ-सट्‌टे की लत के कारण 5 लाख रुपए कर्ज में डूबे होने की बात लिखी है।

युवा व्यापारी से बातचीत कर काउंसिलिंग करती पुलिस।
युवा व्यापारी से बातचीत कर काउंसिलिंग करती पुलिस।

ये लिखा सुसाइड नोट में...
‘आप सभी के प्यार के लिए सादर अभिवादन! जिंदगी में थक चुका हूं। सब कुछ हार चुका हूं। अब उम्मीद बाकी नहीं है। मेरे में कुछ करने की चंद शब्दों में यही बोल सकता हूं, लालच बुरी बला है। जल्दी बड़ा आदमी बनने के चक्कर में अच्छी जिंदगी की आग लगा दी। मैं सचिन सोनी होश हवास में लिख रहा हूं। मेरी मौत का जिम्मेदार कोई नहीं है। मेरे मरने के बाद अगर कुछ करना है, तो जुआ सट्टा जरूर बंद करवा देना। क्योंकि मेरा घर उजाड़ चुका है। अब किसी और घर उजड़े। अगर आपने मेरा कुछ भी अच्छा किया है और आपका अच्छा दोस्त रहा हूं। मैं तो वादा है, आप मुझे हर जगह पाओगे। जब किसी लंगड़े को देखना, तो यही सोचना सचिन है। ऐसे लोगों का कभी परिहास न उड़ना। सोचा था जिंदगी शान से काटेंगे, लेकिन हिम्मत टूट गई है। अब बर्दाश्त नहीं होता। मेरे जीवन के कुछ अमिट लोग हैं। उनमें प्रदीप भईया/पप्पू भईया/मेरा छोटा भाई सौरभ व बहुत ही अच्छा है। उसका ध्यान ये लोग जरूर रखेंगे। मेरे मरने का कारण सिर्फ और सिर्फ कर्ज है। मैं 5 लाख रुपए के कर्ज में डूब चुका हूं। सारे रास्ते बंद हैं। समझ नहीं आता, क्या करें, क्या नहीं। मेरी मां रोएगी, लेकिन मम्मी मैंने सब बर्बाद कर दिया। अब हिम्मत नहीं है, आपके सामने, भाई के सामने खड़ा होने की। तुम्हरा, सचिन सोनी’

मौके पर पहुंचे थाना प्रभारी
मनगवां थाना प्रभारी केपी त्रिपाठी ने बताया कि पु​रानी बस्ती में रहने वाले आभूषण व्यापारी सचिन सोनी ने शनिवार की रात करीब 7.30 बजे अपने करीबी मित्र एवं कांग्रेस नेता प्रदीप तिवारी को सोशल मीडिया में मैसेज भेजा। इसोशल मीडिया में मैसेज वायरल होने के बाद तत्काल ही सचिन के घर पहुंचकर दोस्त व परिजनों ने बचा लिया। घटना के बाद पुलिस ने सचिन को समझाइश दी है।

ASP की समझदारी से टली घटना:आधी रात सड़क पर बदहवास मिली युवती, पीछे पड़े थे कुछ लड़के, गश्त पर निकली ASP ने देखा तो गाड़ी रोकी, भागे युवक, सुसाइड करने निकली थी लड़की

खबरें और भी हैं...