पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बीना में कोरोना संक्रमण:गर्भवती समेत 5 की संदिग्ध हालत में मौत, 3 ने अस्पताल में तोड़ा दम, 2 मृत ही आए

बीना2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

काेराेना संक्रमण के दाैर में लोगों की माैताें का आंकड़ा कम होने का नाम नहीं ले रहा है। सिविल अस्पताल में गुरुवार शुक्रवार की दरमियानी रात सात घंटे में गर्भवती महिला सहित 5 लोगों की मृत्यु हुई है। जिनमें से कुछ की इलाज के दौरान मौत हुई है, तो कुछ को मृत अवस्था में लाया गया है। कोविड आइसोलेशन वार्ड में मरीजों के अटेंडरों से अस्पताल स्टाफ परेशान हो रहा है।

यहां एक मरीज के साथ 5-5 अटेंडर आ रहे हैं, जो वार्ड में रुक रहे हैं। जिससे अन्य मरीजों को आराम करने में परेशानी जा रही है, तो वहीं संक्रमण फैलने का खतरा बना हुआ है। इसी के चलते रात के समय कई अटेंडरों के बीच झड़प भी हुई है, जिससे स्टाफ परेशान होता रहा। जानकारी अनुसार गुरुवार रात 10 बजे से लेकर शुक्रवार सुबह 5 बजे तक सिविल अस्पताल में 5 लोगों की मौत हुई है। देर रात 35 साल की गर्भवती महिला की इलाज के करीब एक घंटे बाद मृत्यु हो गई है।

इसी दाैरान 15 साल की लड़की काे अस्पताल में मृत अवस्था में लाया गया। इन दोनों के परिजनों का कहना था कि टाइफाइड का इलाज चल रहा था। इसके अलावा सिविल अस्पताल में 2 दिन से भर्ती 65 साल के बुजुर्ग की भी मौत हो गई। इसके अलावा 70 साल के बुजुर्ग को सागर रैफर किया, जिसकी रास्ते में मौत हो गई। वहीं 68 साल के बुजुर्ग को मृत अवस्था में लाया गया है।
समझाने के बाद भी लोग मानने को तैयार नहीं
जानकारी अनुसार गुरुवार-शुक्रवार की दरमियानी रात सिविल अस्पताल के कोविड आइसोलेशन वार्ड कोविड एवं संदिग्ध मरीजों से फुल भरा था। किसी भी बेड पर जगह नहीं थी। बावजूद कई मरीज ऐसे थे, जिनके साथ अटेंडरों की भरमार थी। जानकारी लगते ड्यूटी पर मौजूद डॉ. हर्षिता परिहार ने मरीजों के अटेंडरों को बार बार समझाया, लेकिन लोगों ने उनकी एक न सुनी और स्टाफ सहित मरीज परेशान होते रहे। डॉ. हर्षिता ने बताया कि अटेंडरों के कारण काम करने में परेशानी हो रही है। मरीज रात भर शिकायत करते रहे और में अटेंडरों को समझाती रही अधिक भीड़ के कारण संक्रमण फैलने का भी खतरा बढ़ रहा है। इस मामले में सख्ती होना चाहिए।

खबरें और भी हैं...