पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मनमानी:सरकारी या निजी भूमि जांच का विषय, देहरी हाईस्कूल के पास खोद डाला जानलेवा गड्ढा

बीना12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • दूसरी रेलवे लाइन निर्माण का मामला, खोदे गड्ढे को विभाग वैध बता रहा तो तहसीलदार अवैध

बीना कोटा द्वितीय रेलवे लाइन का (महादेव खेड़ी से मालखेड़ी) तक के निर्माण कार्य के लिए ग्राम देहरी में ठेकेदार के द्वारा निजी भूमि के साथ सरकारी भूमि पर भी अवैध खनन कर मेटेरियल निकालने का मामला सामने आया है। खनन को खनिज विभाग वैद्यानिक बता रहे है तो तहसीलदार अवैध खनन बता रहे है। खनन वैध है या अवैध, जमीन निजी है या सरकारी यह जांच का विषय है।

लेकिन ठेकेदार के द्वारा स्कूल की बाउंड्रीवॉल के नजदीक उत्खन्न कर एक बड़ा सा जानलेवा गड्‌ढ़ा खोदा गया है। जो बारिश के दिनों में स्कूली बच्चों को खतरा बन सकता है। ग्रामीण उत्खन्न की जांच करने की मांग कर रहे है।

जानकारी बीना कोटा द्वितीय रेलवे लाइन बिछाने के लिए मेहरोत्रा बिल्डकॉन प्राइवेट कंपनी के द्वारा ग्राम देहरी गांव में एक निजी जमीन पर करीब एक माह पहले उत्खन्न कर मेटेरियल को उठाया गया और अधिकांश मेटेरियल को लाइन बिछाने वाले हिस्से में डाला गया।

बाउंड्रीवॉल से 10 फीट दूर पर हुआ खनन

जानकारी अनुसार स्कूल की बाउंड्री बाल से करीब 150 मीटर की दूरी पर करीब 5 मीटर वाई 200 मीटर एवं 10 से 12 फीट गहरी नाली खोदकर बड़ी मात्रा में मेटेरियल उठाया गया। उसके अलावा स्कूल की बाउंड्री बाल से केवल 10 फीट दूर बड़े स्थान पर गड्‌ढ़ा खोदकर मेटेरियल उठाया गया है। जिसे ग्रामीण निजी भूमि के साथ सरकारी भी बता रहे है।

मेहरोत्रा बिल्डकॉन प्राइवेट कंपनी ने खनिज विभाग को पत्र लिख कर ग्राम देहरी में निजी भूमि खसरा नंबर 681,592 के रकवा नंबर 1.20 हेक्टेयर पर तालाब निर्माण के दौरान निकली मिट्टी को बीना कोटा रेलवे लाइन (महादेव खेड़ी से मालखेड़ी) के निर्माण कार्य के लिए उपयोग किए जाने के लिए खनिज विभाग से मिट्टी के परिवहन की अनुज्ञा मांगी थी। जिसमें 30000 घन मीटर की रायल्टी राशि 15 लाख रुपए चालन के माध्यम से 18 फरवरी को जमा की गई। जबकि मेटेरियल परिवहन एवं उत्खन्न करने का काम करीब एक माह से चल रहा है।

पत्र मिलने के बाद निजी भूमि पर खनन करने की सहमति दी

ग्राम पंचायत सचिव सुरेश राय ने बताया कि 2 माह पहले तहसील कार्यालय से निजी भूमि पर उत्खन्न करने के लिए मेलहोत्रा बिल्डकॉन के नाम से सहमति देने के लिए आवेदन आया था। पत्र मिलने के बाद दिए गए निजी भूमि के खसरा नंबर पर उत्खन्न करने की सहमति दी गई थी। ठेकेदार द्वारा एक पत्र दिया गया है,जो वह अनुमति बता रहे है। तहसीलदार संजय जैन ने बताया कि पटवारी को भेज कर जांच कराई तो अवैध खनन पाया गया। प्रतिवेदन एसडीएम को भेजा जा रहा है। अगर ठेकेदार के पास कोई अनुमति है, तो वह न तो हमारे पास आई है न ही पटवारी के पास है।

पैसे जमा करने से पहले खनन

देहरी निवासी भाजपा मंडल अध्यक्ष लोकेंद्र सिंह ठाकुर ने बताया कि ठेकेदार ने एक माह पहले खुदाई की और उसकी रायल्टी का पैसा 18 फरवरी को जमा किया गया है। जबकि नियमानुसार पैसा जमा होने के बाद बैठक होने पर ही उत्खन्न करने की अनुमति दी जाती है।

यहां तो पैसा जमा करने के पहले ही उत्खन्न कर लिया गया है। खनिज अधिकारी राजेश गंगेले का कहना है कि ठेकेदार ने वैद्यानिक रूप से निजी जमीन पर से मेटेरियल परिवहन किया जा रहा है। ठेकेदार ने परिवहन करने के लिए विधीवत तरीके से परमीशन ली है और उसका शासन को पैसा भी भरा है। ठेकेदार के आवेदन में तहसीलदार की रिपोर्ट भी लगी है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- किसी विशिष्ट कार्य को पूरा करने में आपकी मेहनत आज कामयाब होगी। समय में सकारात्मक परिवर्तन आ रहा है। घर और समाज में भी आपके योगदान व काम की सराहना होगी। नेगेटिव- किसी नजदीकी संबंधी की वजह स...

    और पढ़ें