मां का धर्मांतरण कराया, बेटी पर भी डाला दबाव:नाबालिग बोली- टीचर मुझ पर गंदी नजर रखता था

बीना3 महीने पहले

सागर जिले के बीना में एक सरकारी टीचर की करतूत सामने आई है। इस टीचर की हरकत के कारण एक पूरा परिवार बिखर गया है। टीचर ने शादीशुदा महिला को अपने प्यार के जाल में फंसाया, फिर उसका धर्म परिवर्तन कराया। अब उसकी नजर महिला की नाबालिग बेटी पर है। वह बेटी का भी धर्म परिवर्तन करवाना चाहता है।

पूरी कहानी से पहले जानिए टीचर पर क्या कार्रवाई हुई...

पीड़िता की शिकायत पर पुलिस ने आरोपी टीचर के खिलाफ शुक्रवार शाम को FIR दर्ज कर ली है। बीना थाना प्रभारी कमल निगवाल ने बताया कि पीड़िता ने महिला हेल्प डेस्क पर शिकायत दर्ज कराई थी। आरोपी के खिलाफ पॉक्सो और अन्य धाराओं में केस दर्ज कर लिया है। आरोपी टीचर को गिरफ्तार कर लिया गया है। शनिवार को उसे कोर्ट में पेश किया जाएगा। वहीं सागर के जिला शिक्षा अधिकारी ने आरोपी टीचर को सस्पेंड कर दिया है।

अब पढ़िए पीड़िता ने पुलिस को आपबीती में जो बताया उसी की जुबानी...

'मैं 17 साल की हूं, मेरे परिवार में चार लोग थे। मैं, बड़ा भाई, मम्मी और पापा। मेरा परिवार आर्थिक रूप से कमजोर था, लेकिन हम खुश थे। करीब दो साल पहले हमारे जीवन में शमीम खान की एंट्री हो गई। शमीम मुड़िया देहरा गांव के शासकीय स्कूल में शिक्षक है। मम्मी शमीम के यहां खाना बनाने जाती थी। मैं और मम्मी उसकी बातों में आ गए। हमने तय किया कि शमीम के साथ भोपाल जाएंगे।

करीब एक साल पहले मैं और मम्मी ​​​​​​शमीम के साथ भोपाल चले आए। पापा और भाई ने मना किया, हम दोनों उनसे लड़कर शमीम की बातों में आकर भोपाल चले आए। हम शमीम के साथ रहने लगे। कुछ दिनों तक सब कुछ ठीक था। एक दिन उसने मम्मी से हिंदू धर्म छोड़कर मुस्लिम धर्म अपनाने को बोला। मुझे हैरानी हुई, लेकिन मम्मी मान गईं। फिर मैंने ध्यान दिया कि शमीम की नजर मेरे लिए ठीक नहीं थी। वह मेरे साथ रोज छेड़खानी करने लगा। मैंने शमीम की शिकायत मम्मी से भी की, लेकिन वह उसके खिलाफ कुछ भी सुनना नहीं चाहती थीं।

नाबालिग किशोरी ने बताया कि शमीम की हरकतों से परेशान होकर उसने पढ़ाई भी छोड़ दी। 11वीं की परीक्षा भी नहीं दे पाई थी।
नाबालिग किशोरी ने बताया कि शमीम की हरकतों से परेशान होकर उसने पढ़ाई भी छोड़ दी। 11वीं की परीक्षा भी नहीं दे पाई थी।

पढ़ाई भी छोड़नी पड़ी
शमीम ने एक दिन मुझसे बोला कि तुम मुस्लिम धर्म अपना लो। मैंने साफ मना कर दिया। इससे नाराज होकर शमीम और मम्मी ने मेरे साथ मारपीट की। मेरे दर्द को मम्मी समझना नहीं चाहती थीं। मुझे वहां घुटन हो रही थी। करीब एक सप्ताह बाद ही मैं शमीम की हरकतों से परेशान होकर पापा के पास चली आई। मैं 11वीं में पढ़ रही थी, लेकिन शमीम के कारण मुझे पढ़ाई छोड़नी पड़ी। वह मेरा पीछा करता था। मेरे साथ छेड़छाड़ करता था। उसकी वजह से मैं 11वीं की परीक्षा नहीं दे पाई। मुझे शमीम खान से खतरा है।

29 अक्टूबर को रात करीब 8 बजे अचानक शमीम घर आ गया। उस समय पापा और भाई घर पर नहीं थे, मैं अकेली थी। उसने बोला कि तुम्हारी मम्मी मेरे साथ है, तुम भी चलो। मैंने कहा कि अभी घर पर कोई नहीं है। आप यहां से चले जाओ। शमीम ने बुरी नीयत से मेरा हाथ पकड़ लिया। मैं घबरा गई थी। जब मैं चिल्लाई, तो वह डरकर भाग गया। पापा और भाई घर पर आए, तो उन्होंने मुझे परेशान देखा। मैंने उन्हें सारी बात बताई, इसके बाद 4 नवंबर को राज्य बाल संरक्षण आयोग से उसकी शिकायत की। शमीम पर कार्रवाई के लिए दो बार बीना थाने में आवेदन दे चुके थे, लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। इसे क्षेत्र के बाहर का और आपसी विवाद का मामला बताकर लौटा दिया ।

किशोरी के पिता का कहना है कि शिक्षक शमीम खान ने किसी महिला के साथ खुद का अश्लील वीडियो भी अपने ट्विटर अकाउंट पर डाला है।
किशोरी के पिता का कहना है कि शिक्षक शमीम खान ने किसी महिला के साथ खुद का अश्लील वीडियो भी अपने ट्विटर अकाउंट पर डाला है।

शिक्षक ने ट्विटर पर डाले अश्लील वीडियो
किशोरी के पिता का कहना है कि शमीम खान ने किसी महिला के साथ खुद का अश्लील वीडियो भी अपने ट्विटर अकाउंट पर डाला है। उन्होंने कहा कि इस बात से अंदाजा लगाया जा सकता है कि वह कितना गिरा हुआ व्यक्ति है। वह अपने स्कूल की किशोरियों के लिए भी खतरा बन सकता है।

बेटी को मुस्लिम बनाने की कोशिश की: पिता
किशोरी के पिता ने बताया कि पत्नी को तो शमीम खान एक साल पहले ले गया था। उसको मुस्लिम बना दिया। अब शमीम की बुरी नजर मेरी बेटी पर है। वह बेटी पर भी मुस्लिम धर्म अपनाने का दबाव बना रहा है। पत्नी के जाने के बाद घर बिखर गया है।

पीड़ित किशोरी के पिता का कहना है पुलिस इसे लेन-देन का मामला बता रही है। जबकि ऐसा नहीं है। मैंने बैंक में जाकर पता किया तो कोई रुपए जमा नहीं हुए थे।
पीड़ित किशोरी के पिता का कहना है पुलिस इसे लेन-देन का मामला बता रही है। जबकि ऐसा नहीं है। मैंने बैंक में जाकर पता किया तो कोई रुपए जमा नहीं हुए थे।

किशोरी के पिता का शिक्षक से पैसों का लेनदेन: थाना प्रभारी
बीना थाना प्रभारी कमल निगवाल ने बताया कि किशोरी के पिता का शिक्षक शमीम खान से कुछ रुपयों का लेनदेन है। किशोरी के पिता ने शिक्षक से पैसे उधार लिए हैं। यह सही है कि उसकी मां उसके साथ कहीं बाहर रहती है। पुलिस ने प्रयास किए, लेकिन महिला नहीं लौटी।

रुपए लेने के आरोप गलत
किशोरी के पिता ने सफाई देते हुए बताया कि पुलिस जो बोल रही है कि मैंने शिक्षक से रुपए उधार लिए हैं, यह सब गलत है। मेरी पत्नी शिक्षक के घर पर खाना बनाती थी। वहीं उसके संपर्क में आ गई। शमीम का घर आना-जाना शुरू हो गया था। उसने बैंक से मकान बनाने के लिए रुपए उधार लिए थे। पत्नी ने बोला था कि शिक्षक ने 20 हजार रुपए बैंक में जमा करा दिए हैं। मैंने बैंक में जाकर पता किया तो कोई रुपए जमा नहीं हुए थे।