नौरादेही अभयारण्य:पक्षियों को भा रहा नौरादेही अभयारण्य, 13 प्रजातियां बढ़ीं

रहली9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • इस वर्ष जनवरी माह के अंतिम सप्ताह में की गई पक्षी गणना में 175 प्रजातियां मिलीं

भेड़ियों के प्राकृतिक आवास के कारण अभयारण्य का दर्जा पाने वाला नौरादेही अभयारण्य बाघ और मगरमच्छों के साथ ही पक्षियों की शरणस्थली भी बनता जा रहा है। यहां पर दो साल में बाधों का कुनबा बढ़कर दो से पांच हो गया है तो मगरमच्छों की संख्या भी सैकड़ों में पहुंच गई है। इसके साथ ही नौरादेही वन्य प्राणी अभयारण्य में पक्षियों की प्रजातियां और इनकी संख्या भी लगातार बढ़ती जा रही है।

पिछले वर्ष फरवरी माह में की गई पक्षी गणना में नौरादेही अभयारण्य में पक्षियों की 162 प्रजातियां पाई गईं थीं तो इस वर्ष जनवरी माह के अंतिम सप्ताह में की गई पक्षी गणना में 175 प्रजातियां मिलीं। बर्ड सर्वे मेें प्रदेश के विभिन्न जिलों व दूसरे प्रदेशों से आए तीस स्वयं सेवकों ने अभयारण्य की छह रेंजों मेें बर्ड सर्वे किया था। पक्षियों के अनुकूल वातावरण होने के कारण यहां पर स्थानीय पक्षी तो हैं ही हर साल अप्रवासी पक्षी भी ठंड के दिनों में नौरादेही वन्य प्राणी को शरणस्थल बनाते हैं। जो कि ठंड शुरू होते ही दीपावली के आसपास अभयारण्य में दस्तक देते हैं तो गर्मी शुरू होते ही होली के आसपास अभयारण्य से विदा हो जाते हैं।

इस वर्ष अभयारण्य आए अप्रवासी पक्षियों की विदाई शुरू हो गई है। अभयारण्य पक्षियों की मौजूदगी में ही अभयारण्य में पक्षी का कार्य किया गया था। एसडीओ फारेस्ट एसआर मलिक बताते हैं कि पक्षी गणना के दौरान अभयारण्य में पक्षियों की प्रजापतियां पिछले वर्ष के मुकाबले अधिक मिली हैं। अप्रवासी पक्षियों का जाना शुरू हो गया है।

खबरें और भी हैं...