पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

खाकरोन में मेले का समापन:125 साल पहले स्थापित हुआ शिव मंदिर, तभी से लगता आ रहा खाकरोन का बुंदेली मेला

जरुआखेड़ाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
खाकरोन धसान नदी के पास स्थापित शिव और हनुमान के मंदिर। - Dainik Bhaskar
खाकरोन धसान नदी के पास स्थापित शिव और हनुमान के मंदिर।
  • गुरुवार को खाकरोन में मेले के समापन पर विधायक लारिया ने लोगों को संबोधित किया

सागर-बीना रोड से उत्तर में तीन किलोमीटर नरयावली विधानसभा के ग्राम खाकरोन में धसान नदी किनारे 125 साल पहले गांव के मालगुजार भगवानदास पाठक ने शिव एवं हनुमान जी के मंदिर की स्थापना करवाई थी। तब से आज तक यहां पर बुंदेली परंपरा अनुसार मेला भरता अा रहा है। इस मेले में आसपास के लगभग 40 गांव के लोग पहले के समय में बैलगाड़ी घुड़सवारी से मेले का आनंद उठाने आते थे।

गांव के राजेश रतन उदैनिया ने बताया कि मेला आते समय बैलगाड़ी की दौड़ भी होती थी। जिसमें हजारों दर्शनार्थी इस पल का आनंद लेते थे। यहां विराजमान शिव व हनुमान जी की प्रतिमाएं सिद्ध हैं। यहां पर जाे भी मनोकामना मांगाे वह पूरी होती है। नवंबर 2015 में यहां पर 108 कुंडली यज्ञ का आयोजन नेपाली बाबा के द्वारा कराया गया था। जिसमें 600 यजमान बैठे हुए थे। पहले यह बुंदेली मेला विलुप्त होने की कगार पर था लेकिन क्षेत्र के विधायक प्रदीप लारिया के अथक प्रयासों से यह फिर से जीवित हो गया।

गुरुवार को मेले के समापन पर क्षेत्रीय विधायक प्रदीप लारिया ने मेला में आए दूरदराज के लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि मेला हमारी संस्कृति का हिस्सा है इसलिए इसका बहुत ही महत्व है। ऐसे मेले में आसपास के लोगों का समागम होता है यह हमारी संस्कृति है जो धीरे-धीरे समाप्त होती जा रही थी लेकिन मुझे लगा कि इस मेले के लिए और प्रयास करना चाहिए। उन्होंने अगले साल खाकरोन महोत्सव कराने को कहा।

उन्होंने मेला ग्राउंड पर अपनी विधायक निधि से ₹तीन लाख की यज्ञशाला बनवाने की घोषणा की। अगले साल से यहां पर प्रथम दिन रोजगार मेला एवं पूरे प्रदेश की कंपनी आएंगी एवं दूसरे दिन क्षेत्र के कलाकारों की कला प्रदर्शन होगा। तीसरे दिन स्थानीय एवं प्रदेश स्तर के सांस्कृतिक कलाकारों का रंगारंग कार्यक्रम होगा। जिला पंचायत सदस्य एवं उपाध्यक्ष तृप्ति सिंह ने कहा कि हमारे बुजुर्गों ने जो मेलों का आयोजन किया वह इसलिए किया था कि पूर्व में आने जाने के कोई साधन नहीं थे।

मेलों के माध्यम से दूरदराज के रिश्तेदार सगे साथियों से उनका मेल-मिलाप हो जाता था।
इस अवसर पर जनपद उपाध्यक्ष कैलाश यादव, भाजपा नेता मुरारी यादव, के के यादव, दिलीप नायक, रामप्रवेश लोधी, ओम हरि पांडे, रामनारायण नामदेव, पिंटू विश्वकर्मा, बृजेश यादव, कल्लू सेन, घुमान यादव, राजा यादव बड़ी संख्या में मेला देखने जनसैलाब उमड़ा था। कार्यक्रम संचालन राजकिशोर उदैनिया ने किया।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आपकी प्रतिभा और व्यक्तित्व खुलकर लोगों के सामने आएंगे और आप अपने कार्यों को बेहतरीन तरीके से संपन्न करेंगे। आपके विरोधी आपके समक्ष टिक नहीं पाएंगे। समाज में भी मान-सम्मान बना रहेगा। नेग...

    और पढ़ें