पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आजीवन कारावास:शादी के तीन माह बाद छत पर सो रहे पति की पत्नी ने कुल्हाड़ी मारकर की थी हत्या

टीकमगढ़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

प्रथम अपर सत्र न्यायाधीश जतारा ने 21 वर्षीय एक महिला को अपने पति की हत्या के मामले में आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। दोनों की घटना के तीन माह पहले ही शादी हुई थी। इसके बाद छत पर सोने के दौरान पत्नी ने पति की कुल्हाड़ी मारकर हत्या कर दी। जिस मामले में कोर्ट ने फैसला सुनाया है। अपर लोक अभियोजक इमरत लाल अहिरवार ने बताया कि 28 जून 2020 की रात करीब 9 बजे फरियादी ससुर मनप्यारे कुशवाहा खाना खाकर घर के बाहर सोने चला गया। उसका लड़का मृतक आशाराम कुशवाहा व बहू सीमा कुशवाहा छत पर सोने चले गए। सुबह करीब 4 बजे मां पार्वती ने मनप्यारे को जगाया और बताया कि सीमा छत पर रो रही है।

दोनों ने छत पर देखा तो सीमा रो रही थी। अाशाराम खून से लतपथ छत पर पड़ा हुआ था। उसका गला कटा हुआ था। जिससे उसकी मृत्यु हो चुकी थी। सीमा ने अपने ससुर को बताया कि वह छत पर पति के साथ सो रही थी। जब वह जागी तो आशाराम खून में लतपथ पड़ा था। घटना की जानकारी जतारा थाना पुलिस को दी गई।

फरियादी की सूचना पर थाना जतारा पुलिस ने धारा 302, 450 के तहत मामला दर्ज कर विवेचना में लिया गया। विवेचना के दौरान आरोपियों सीमा ने यह स्वीकार किया कि उसी ने आशाराम की हत्या की है। जिससे पुलिस ने गिरफ्तार कर कुल्हाड़ी भी जब्त की है। घटनास्थल पर उपलब्ध साक्ष्य को एकत्रित कर अभियोग पत्र को न्यायालय में प्रस्तुत किया गया। न्यायालय में प्रकरण में आए साक्ष्य के आधार पर आरोपी सीमा को दोषी पाते हुए धारा 302 में आजीवन कारावास एवं दस हजार रुपए से दंडित किया गया।

खबरें और भी हैं...