पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

ई शिलान्यास व लोकार्पण:27 करोड़ की जल आवर्धन योजना से बुझेगी बड़ामलहरा की प्यास, 27 माह में होगी पूरी

छतरपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने इस योजना का किया ई शिलान्यास व लोकार्पण

नगर वासियों को जल संकट से निजात दिलाने 27 करोड़ की जल आवर्धन योजना स्वीकृत हुई है। शुक्रवार को दोपहर 2 बजे नगर परिषद बड़ामलहरा के मंगल भवन में विधायक प्रद्युम्न सिंह लोधी की उपस्थिति में जल आवर्धन योजना का भूमि पूजन किया गया। साथ ही मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ई शिलान्यास एवं ई लोकार्पण किया।

नगर के लोगों को पीने के पानी के लिए परेशान न होना पड़े इस उद्देश्य से वर्ष 2013 में करीब 2 करोड़ से भी अधिक लागत से स्थानीय गरखुवा रोड पर पानी की टंकी का निर्माण कराया गया था। लेकिन भ्रष्टाचार के चलते नागरिकों की सुविधा के लिए बनाई गई पानी की टंकी का निर्माण इतने घटिया स्तर का किया गया कि उसमें पानी भरते ही रिसाव प्रारंभ हो गया। लेकिन अब प्रसन्नता की बात है कि मध्यप्रदेश खाद्य एवं आपूर्ति निगम के अध्यक्ष एवं बड़ामलहरा क्षेत्र के विधायक प्रद्युम्न सिंह लोधी के प्रयास से बड़ामलहरा नगर को 27 करोड़ लागत की यह जलप्रदाय योजना पुनः प्राप्त हो चुकी है।

इस मौके पर मुख्य रूप से गिरजा प्रसाद पटेरिया, सुनील मिश्रा, कैलाश पन्या, सुरेंद्र सिंह, मानक शर्मा, देव नारायण अवस्थी, दंगल राजा, जीत सिंह यादव, भाजपा के कार्यकर्ता एवं नगर के गणमान्य नागरिक शामिल रहे।

27 माह में पूरी होगी योजना
विधायक प्रद्युम्न सिंह लोधी ने जानकारी देते हुए बताया कि यह योजना 27 माह में बनकर पूर्ण हो जाएगी। उन्होंने बताया कि यह जलप्रदाय योजना बड़ामलहरा की आगामी वर्ष 2050 की जनसंख्या वृद्धि को ध्यान में रखकर बनाई गई है।

42 किमी की लाइन बिछेगी
इसके लिए काठन नदी से बड़ामलहरा के हर घर तक 42 किलोमीटर लंबी पाइप लाइन का जाल बिछाया जाएगा एवं इसका 10 वर्षों तक संधारण संचालन और मरम्मत की जिम्मेदारी ठेकेदार की होगी। टेंडर प्रक्रिया पूर्ण कर ली गई है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आर्थिक योजनाओं को फलीभूत करने का उचित समय है। पूरे आत्मविश्वास के साथ अपनी क्षमता अनुसार काम करें। भूमि संबंधी खरीद-फरोख्त का काम संपन्न हो सकता है। विद्यार्थियों की करियर संबंधी किसी समस्...

    और पढ़ें