पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अव्यवस्था:ट्रू-नॉट मशीन में उपयोग की जाने वाली बीएलएम ट्यूब 3 दिन से खत्म, कोविड-19 लैब में जांच ठप

छतरपुर10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • दो दिन में लिए 750 सैंपल दोपहर बाद भेजे सागर, सीएमएचओ का दावा रात तक हो जाएंगी व्यवस्थाएं बहाल

जिला अस्पताल स्थित कोरोना जांच लैब की ट्रू-नॉट मशीन में उपयोग होेने वाली बीएलएम ट्यूब तीन दिन पहले खत्म हो गई। इसलिए लैब में कोरोना सैंपल की जांच नहीं हो पा रही है। इस कारण पिछले दो दिन से सागर लैब की जांच किट में सैंपल लिए जा रहे हैं। रविवार और सोमवार को विभाग ने 750 सैंपल लिए। इन सैंपल में लोगों के नाम की डाटा फीडिंग समय पर न हो पाने के कारण प्रतिदिन सुबह से सागर जाने वाला वाहन मंगलवार की दोपहर बाद गया। जिला अस्पताल स्थित कोरोना जांच लैब की ट्रू-नॉट मशीन में छोटी बीएलएम ट्यूब में सेंपल लेकर टेस्ट किए जाते हैं, जबकि सागर लैब में जांच के लिए भेजे जाने वाले सैंपल बड़ी बीटीएम ट्यूब में लेकर भेजे जाते हैं। पिछले तीन दिन से जिला अस्पताल की लैब में बीएलएम ट्यूब खत्म हो गई हैं। इसलिए यहां पर होने वाली कोरोना सैंपल की जांच प्रक्रिया रुक गई है। बीएलएम ट्यूब प्रबंधन के पास उपलब्ध न होने से स्वास्थ टीमें सागर लैब द्वारा दी गई बीटीएम ट्यूब में सैंपल ले रहे हैं। रविवार और सोमवार को जिले की टीमों ने मिलकर 750 सैंपल लिए। पर कोरोना संदिग्धों के नाम की डाटा फीडिंग समय पर न हो पाने के कारण रविवार को लिए गए सैंपल सोमवार की सुबह सागर नहीं पहुंच सके। इस समस्या के चलते सोमवार को लिए गए सैंपल भी मंगलवार को दोपहर बाद सागर भेजे गए।

लैब टैक्नीशियन की बिगड़ी तबियत, आइसीयू में भर्ती
जिला अस्पताल स्थित काेरोना जांच लैब की ट्रू-नॉट मशीन से सैंपल की जांच करने के लिए 6 लैब टैक्नीशियन की ड्यूटी प्रबंधन द्वारा लगाई गई है। प्रबंधन इन टेक्नीशियन से लैब में जांच के साथ ही कंटेनमेंट एरिया के लोगों के सैंपलिंग भी करवाता है। लगातार कार्य करने के कारण सोमवार की शाम लैब में ड्यूटी कर रहे लैब टैक्नीशियन नीरज खरे की हालत बिगड़ गई और वह बेहोश होकर गिर पड़ा। हालत बिगड़ने पर लैब के अन्य साथियों ने उसे आइसीयू वार्ड में इलाज के लिए भर्ती कराया है।
दो डॉक्टर आइसोलेशन में भर्ती, 4 डॉक्टर क्वारेंटाइन  
पिछले दिनों जिला अस्पताल में पदस्थ डॉक्टर दंपती कोरोना पॉजिटिव पाए गए। एक साथ दो डॉक्टर संक्रमित पाए जाने के बाद सिविल सर्जन सहित 4 डॉक्टरों की जांच कराते हुए होम क्वारेंटाइन कर दिया गया। इसके साथ ही महिला वार्ड, मेटरनिटी वार्ड, एसएनसीयू और लेवर रूम इंचार्ज सहित 40 स्वास्थ कर्मचारियों को होम क्वारेंटाइन कर दिया गया है। एक साथ इतने अधिक कर्मचारी और डॉक्टर होम क्वारेंटाइन होने से पिछले 6 दिनों से जिला अस्पताल की व्यवस्थाएं गड़बड़ा गई हैं।

शहर में कोरोना संक्रमण बढ़ते ही सैनिटाइजेशन बंद
शहर में लगातार कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़ती जा रही है। जब शहर में एक भी कोरोना संक्रमित मरीज नहीं था, उस समय जिला अस्पताल के वार्डों को प्रबंधन द्वारा सैनिटाइज कराया जाता था। जब से शहर में संक्रमण शुरू हुआ है तब से जिला अस्पताल प्रबंधन द्वारा सैनिटाइज कराना बंद कर दिया है। इस तरह छतरपुर नगर पालिका प्रशासन क्रमण फैलने से पहले तो शहर में सैनिटाइजेशन करा रहा था, पर जब से शहर में कोरोना पॉजिटिव मिलना शुरू हुए हैं, तब से सैनिटाइजेशन बंद है।  

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय चुनौतीपूर्ण है। परंतु फिर भी आप अपनी योग्यता और मेहनत द्वारा हर परिस्थिति का सामना करने में सक्षम रहेंगे। लोग आपके कार्यों की सराहना करेंगे। भविष्य संबंधी योजनाओं को लेकर भी परिवार के साथ...

    और पढ़ें