पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Sagar
  • Chhatarpur
  • Damoh Was Infected In The By election, Brijendra Who Lost The Battle With Corona; Bundelkhand's Loss Of Active Leader And Veteran Representative To Congress

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बुंदेलखंड ने सिंह खो दिया:दमोह उपचुनाव में संक्रमित हुए, कोरोना से जंग हारे बृजेंद्र; बुंदेलखंड को सक्रिय नेता और कांग्रेस को दिग्गज प्रतिनिधि की हुई क्षति

टीकमगढ़6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
विधायक राठौर कांग्रेस के उपचुनाव प्रभारी थे, उनकी रणनीति से चुनाव जीती कांग्रेस, वे घोषणा से पहले ही चले गए - Dainik Bhaskar
विधायक राठौर कांग्रेस के उपचुनाव प्रभारी थे, उनकी रणनीति से चुनाव जीती कांग्रेस, वे घोषणा से पहले ही चले गए

मप्र सरकार के पूर्व कैबिनेट मंत्री एवं पृथ्वीपुर विधायक बृजेंद्र सिंह राठौर का रविवार को भोपाल के चिरायु अस्पताल में कोरोना से निधन हो गया। उनके निधन से बुंदेलखंड में कांग्रेस के सक्रिय नेता की क्षति हुई है। करीबियों ने बताया कि उनके फेफड़ों में 90 प्रतिशत इंफेक्शन था। वह दमोह चुनाव से 14 अप्रैल को वापस लौटे तो तत्काल कोरोना का सैंपल कराया। 15 अप्रैल को उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई। उन्हें ग्वालियर के सिम्स हॉस्पिटल में भर्ती कराया, जहां 22 अप्रैल को उनकी रिपोर्ट निगेटिव आई और वह ग्वालियर से अपने निवास पृथ्वीपुर पहुंचे। यहां शाम 6 बजे निवास पर उन्हें सांस लेने में परेशानी हुई तो झांसी के निजी हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया। यहां से उन्हें भोपाल रैफर किया था।

39 साल के राजनीतिक सफर का अंत
राठौर का जन्म 1 जनवरी 1958 काे पृथ्वीपुर के ज्यार गांव में हुआ था। उन्हाेंने स्नातक स्तर तक की शिक्षा बुंदेलखंड में ही पूरी की। उनका मुख्य व्यवसाय कृषि और पेट्रोल पंप हैं। राठौर ने सार्वजनिक एवं राजनीतिक जीवन की सक्रिय शुरूआत वर्ष 1982 में जिला युवक कांग्रेस के महामंत्री के रूप में की थी। साल 1983-84 में जनपद अध्यक्ष और जिला केन्द्रीय सहकारी बैंक के संचालक रहे। 1986 में तेन्दूपत्ता संघ एवं मध्यप्रदेश अपेक्स बैंक संघ के संचालक और जिला युवक कांग्रेस के अध्यक्ष बने। वर्ष 1992 में जिला कांग्रेस के कोषाध्यक्ष बने। 1993 में पहली बार 10वीं विधानसभा में सदस्य निर्वाचित हुए थे।

2008 में चौथी बार बने थे विधानसभा के सदस्य
बृजेंद्र सिंह उपभोक्ता सलाहकार मंडल, सेन्ट्रल रेलवे, झांसी तथा गृह एवं नगरीय कल्याण विभाग मध्यप्रदेश की सलाहकार समिति के सदस्य, श्रम कल्याण मंडल मध्यप्रदेश के संचालक भी रहे हैं। वर्ष 1998 में इन्टक बीएचईएल झांसी (उत्तरप्रदेश) के अध्यक्ष बने। वर्ष 1998 में दूसरी बार 11वीं विधानसभा के सदस्य निर्वाचित हुए और प्राक्कलन समिति के सदस्य तथा विधानसभा की शिवपुरी जांच समिति के सभापति थे। सिंह अखिल भारतीय वॉलीबाल प्रतियोगिता पृथ्वीपुर के संयोजक भी रहे। बृजेन्द्र सिंह वर्ष 2003 में तीसरी बार 12वीं विधानसभा और वर्ष 2008 में चौथी बार 13वीं विधानसभा के सदस्य एवं लोक लेखा समिति के अध्यक्ष बने।

“नमस्ते ओरछा” से दिलाई अंतरराष्ट्रीय स्तर पहचान
मप्र में कांग्रेस की सरकार बनते ही पृथ्वीपुर विधायक बृजेंद्र सिंह राठौर को केबिनेट मंत्री का दर्जा दिया गया था। इस दौरान वर्ष 2020 में पूर्व सीएम कमलनाथ के निर्देशन पर स्व. बृजेंद्र सिंह राठौर ने तीन दिवसीय नमस्ते ओरछा का आयोजन कराया था, जो मार्च 2020 की 6, 7 व 8 मार्च को किया गया था। बुंदेलखंड की अयोध्या ओरछा के श्रीरामराजा की गाथा को उन्होंने विदेशों तक पहुंचाया। इस तरह का यह ओरछा में पहला आयोजन था। मार्च 2020 में कांग्रेस की सरकार गिरी, तो छह महीने बाद 28 सीटों पर हुए उपचुनाव में पूर्व सीएम कमलनाथ ने उन्हें चंबल का प्रभार सौंपा। हाल में वह दमोह विधानसभा उपचुनाव के भी प्रभारी थे।

पूर्व मंत्री के सबसे नजदीकी यादवेंद्र सिंह की जुबानी
खरसिया विधानसभा चुनाव में हथियार लेकर लोगों ने घेर लिया, वे गाड़ी चला कर मुझे बचा लाए
खरसिया विधानसभा (अब छत्तीसगढ़) में अर्जुन सिंह का उपचुनाव था। जहां मैं करोड़ीमल सेक्टर प्रभारी था। बृजेन्द्र सिंह और भारत सिंह (सीतापुर विधायक) सह प्रभारी थे। वोटिंग के दिन सूचना मिली भारत सिंह से मारपीट गई है। मैं सुरक्षा गार्ड को लेकर पहुंचा। वहां बृजेंद्र सिंह भी मौजूद थे। गांव में खबर फैली 10-15 लोग हथियार लेकर आ गए। भीड़ बढ़ने लगी तब रामसहाय मेरे और बृजेंद्र सिंह के सामने खड़े हो गए। बृजेंद्र ने मुझे और भारत सिंह को गाड़ी में बैठाया और खुद गाड़ी चला कर

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज दिन भर व्यस्तता बनी रहेगी। पिछले कुछ समय से आप जिस कार्य को लेकर प्रयासरत थे, उससे संबंधित लाभ प्राप्त होगा। फाइनेंस से संबंधित लिए गए महत्वपूर्ण निर्णय के सकारात्मक परिणाम सामने आएंगे। न...

    और पढ़ें